सिंघु बॉर्डर पर एक शख्स ने ट्रक को बना दिया घर, बाथरूम से लेकर टीवी तक हर सुविधा मौजूद

सिंघु बॉर्डर पर एक शख्स ने ट्रक को बना दिया घर, बाथरूम से लेकर टीवी तक हर सुविधा मौजूद

हरप्रीत द्वारा बनाए गए इस अस्थाई घर में हर सुविधा मौजूद है। ट्रक में बाथरूम से लेकर टीवी तक लगा हुआ है। हरप्रीत ने ट्रक में बाकायदा सोने के लिए बेड और बैठने के लिए सोफा लगाया हुआ है।

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के प्रदर्शन को 40 दिन हो गए। जैसे जैसे वक्त बीतता जा रहा है, किसान अपनी सहूलियत के अनुसार बॉर्डर पर बदलाव करने लगे हैं।

किसानों के समर्थन में सिंघु बॉर्डर पहुंचे हरप्रीत सिंह मट्टू ने अपने ट्रक को ही एक अस्थाई घर में बदल दिया। जालंधर से आये हरप्रीत सिंह किसान आंदोलन में अपना समर्थन देने सिंघु बॉर्डर पहुंचे हुए हैं। उन्होंने 2 दिसंबर से ही बॉर्डर पर लंगर सेवा शुरू कर दी। .

हरप्रीत अपने परिवार के साथ बॉर्डर आए हुए हैं। हरप्रीत को जब घर की याद आने लगी तो उन्होंने अपने ट्रक को घर में तब्दील कर दिया। इस काम में उन्हें दो दिन लगे।

हरप्रीत द्वारा बनाए गए इस अस्थाई घर में हर सुविधा मौजूद है। ट्रक में बाथरूम से लेकर टीवी तक लगा हुआ है। हरप्रीत ने ट्रक में बाकायदा सोने के लिए बेड और बैठने के लिए सोफा लगाया हुआ है।

हरप्रीत सिंह मट्टू ने आईएएनएस को बताया, मैं 2 दिसंबर को सिंघु बॉर्डर पर आ गया था और तभी से किसानों की सेवा में लंगर शुरू करवाया जो कि आज भी चल रहा है।

8 दिसंबर को मैंने अपने ट्रक को अपार्टमेंट में तब्दील कर दिया, इसके लिए मैंने अपने साथियों को फोन किया और साथ ही प्लम्बर, बिजली वाला और कारपेंटर को भी बुला लिया।

मेरे 12 ट्रक भी यहीं मौजूद है जो किसानों की सेवा में लगे हुए हैं, जिनमें कंबल रजाई की व्यवस्था की हुई है।

दरअसल इस आंदोलन में किसानों ने खुद ही हर तरह की व्यवस्था कर रखी हुई है। बॉर्डर पर कपड़े धोने के लिए वाशिंग मशीन का भी इंतजाम किया गया है। साथ ही जिम, लाइब्रेरी और कम्युनिटी सेंटर तक बनाये गए हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news