अफगान एयरलाइन ने विस्थापितों की जगह रिश्तेदारों को देश से बाहर निकाला : रिपोर्ट

एक निजी अफगान एयरलाइन ने विस्थापित या शरणार्थियों के बजाय कंपनी के नेतृत्व के कम से कम 155 परिवार के सदस्यों को लेकर अबू धाबी के लिए उड़ान भरी, जिसमें पत्रकार भी शामिल थे। सोमवार को एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।
अफगान एयरलाइन ने विस्थापितों की जगह रिश्तेदारों को देश से बाहर निकाला : रिपोर्ट

एक निजी अफगान एयरलाइन ने विस्थापित या शरणार्थियों के बजाय कंपनी के नेतृत्व के कम से कम 155 परिवार के सदस्यों को लेकर अबू धाबी के लिए उड़ान भरी, जिसमें पत्रकार भी शामिल थे। सोमवार को एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए, टोलो न्यूज ने कहा कि काम एयर की उड़ान का उद्देश्य तालिबान के अधिग्रहण के बाद पत्रकारों और अन्य योग्य व्यक्तियों को देश से बाहर निकालना था, लेकिन एयरलाइन के नेतृत्व के परिवार अंतिम समय में आधे-खाली विमान में घुस गए।

रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी में उड़ान के उतरने के बाद, अमेरिकी विदेश विभाग को पता चला कि विस्थापित तो इस सूची में हैं ही नहीं।

हालांकि, काम एयर के अधिकारियों ने दावों का खंडन करते हुए कहा कि कंपनी निकासी में शामिल नहीं थी और वह तो केवल उन्हें स्थानांतरित करने के लिए जिम्मेदार थी।

टोलो न्यूज ने काम एयर के सीईओ मोहम्मद दाऊद शरीफी के हवाले से कहा, हमारे पास अबू धाबी और ताबास (ईरान) के लिए केवल दो उड़ानें थीं। वे सूची के अनुसार चले गए। क्योंकि बहुत से लोग अफगानिस्तान में रह गए हैं और वे अब यह दावा कर रहे हैं कि काम एयर कुछ परिवारों और रिश्तेदारों को ले गया।

जो यात्री कथित रूप से सूची में नहीं थे, वे कथित तौर पर अबू धाबी में हैं और उनका भाग्य अनिश्चित है।

अफगानिस्तान नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के मुख्य कार्यकारी अहमद शुएब फाना ने कहा कि इस कार्रवाई को करने वाले, चाहे वह कहीं के भी हों, प्रत्येक व्यक्ति को जवाबदेह होना चाहिए।

खामा न्यूज की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अफगान पत्रकारों के एक समूह ने सोमवार को काबुल में इकट्ठा होने और घटनाक्रम पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की योजना बनाई है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.