अहमदाबाद में एक ही सोसाइटी में मिले 80 कोरोना संक्रमित, नगर निगम और प्रशासन चौकन्ने
ताज़ातरीन

अहमदाबाद में एक ही सोसाइटी में मिले 80 कोरोना संक्रमित, नगर निगम और प्रशासन चौकन्ने

अहमदाबाद शहर के बोपल इलाके में आज कोरोना विस्फोट हुआ है। दक्षिण बोपल क्षेत्र की सफल परिसर सोसायटी के 80 लोगों की काेरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एक साथ इतने मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

Yoyocial News

Yoyocial News

अहमदाबाद शहर के बोपल इलाके में आज कोरोना विस्फोट हुआ है। दक्षिण बोपल क्षेत्र की सफल परिसर सोसायटी के 80 लोगों की काेरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एक साथ इतने मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। नगर निगम और प्रशासन ने व्यवस्था करने के लिए निजी अस्पतालों पर सख्ती करने के निर्देश दिए हैं। नगर निगम ने एक परिवार के संक्रमित सदस्यों को एक अस्पताल में भर्ती करने के निर्देश दिए हैं। रविवार को अहमदाबाद महानगर पालिका की टीम ने सफल परिसर-1 और सफल परिसर-2 में लोगों का टेस्ट कराया। इस दौरान सफल परिसर 1 में 42 और परिसर-2 में 38 सहित 80 मामले सामने आए। एक साथ इतने लोगों के कोरोना संक्रमित होने पर महानगर पालिका ने सोसाइटी को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया। अहमदाबाद में एक एकल आवासीय सोसायटी में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना के मामले सामने आने से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की चिन्ताएं बढ़ गई है। इसे कोरोना की लहर का संकेत माना जा रहा है। ऐसे संकेत भी हैं कि आने वाले दिनों में बोपल क्षेत्र में बड़े पैमाने पर कोरोना परीक्षण अभियान शुरू किया जा सकता है। अहमदाबाद में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रशासन ने उच्च अधिकारियों के साथ बैठक कर अस्पतालों में बेड आरक्षित करने और बेड बढ़ाने पर मंथन किया। शहर में कोरोना के नए रोगियों को अब इलाज के लिए आणंद, करमसाद या गांधीनगर के अस्पतालों में स्थानांतरित किया जा रहा है, क्योंकि सरकारी अस्पतालों में कोई बेड खाली नहीं हैं। कल शहर के एसवीपी अस्पताल में बढ़ाने की व्यवस्था की गई है। समीक्षा बैठक में शहर के सरकारी और निजी अस्पतालों में लगभग 1500 बेड खाली चिन्हित किए गए। वर्तमान में नगर के सिविल अस्पताल में 703 मरीजों का इलाज चल रहा है। यूएन मेहता, किडनी विभाग और कैंसर में कुल 250 रोगियों का इलाज चल रहा है। सभी मरीजों को गंभीर हालत में आईसीयू में लाया गया है।108 सेवा को एक ही परिवार के सदस्यों को एक ही अस्पताल में ले जाने का निर्देश दिया गया। राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव गुप्ता और एएमसी आयुक्त मुकेश कुमार ने अधिकारियों ने साथ आज बैठक की। बैठक में उन्होंने कहा कि शहर में निजी अस्पतालों में गड़बड़ियां चल रही हैं। इन पर सख्ती करने के भी निर्देश दिए गए।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news