दिल्ली-बरेली के बीच 8 मार्च से शुरू होगी हवाई सेवा

दिल्ली-बरेली के बीच 8 मार्च से शुरू होगी हवाई सेवा

लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, हिंडन, आगरा और प्रयागराज के बाद अब बरेली राज्य का आठवां हवाई अड्डा होगा जहां से उड़ान सेवा शुरू होगी।

उत्तर प्रदेश का नागरिक उड्डयन क्षेत्र नवनिर्मित बरेली हवाई अड्डे से उड़ान संचालन शुरू करने के साथ ही नई ऊंचाइयां छूने को तैयार है।

केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएस) के तहत बरेली और दिल्ली के बीच एलायंस एयर द्वारा 8 मार्च से प्रत्येक बुधवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को उड़ान सेवा शुरू की जाएगी।

यह एयरलाइन आरसीएस के तहत 1 मार्च से दिल्ली और बिलासपुर को जोड़ने वाले प्रयागराज से दो उड़ानें भी शुरू करेगी।

उड़ानें सोमवार, बुधवार, शुक्रवार और रविवार को संचालित होंगी। दोनों मामलों में, एयरलाइन एटीआर72 विमान का उपयोग करेगी।

दिल्ली-बरेली के बीच 8 मार्च से शुरू होगी हवाई सेवा
दादर नगर हवेली के सांसद मोहन डेलकर मुंबई के होटल में मृत मिले, खुदकुशी की आशंका

लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, हिंडन, आगरा और प्रयागराज के बाद अब बरेली राज्य का आठवां हवाई अड्डा होगा जहां से उड़ान सेवा शुरू होगी।

नागरिक उड्डयन सचिव सुरेंद्र सिंह ने कहा कि राज्य सरकार ने बरेली में एक सिविल एन्क्लेव के निर्माण पर लगभग 83 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। उन्होंने कहा कि यह उस 35 एकड़ भूमि के अलावा है, जो भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) को मुफ्त में उपलब्ध कराई गई है। साथ ही निर्वाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 9.8 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

नागरिक उड्डयन विभाग के सूत्रों ने कहा कि इंडिगो एयरलाइंस ने उड़ानों के संचालन के उद्देश्य से मूल्यांकन करने के लिए बरेली एक टीम भेजी है।

दिल्ली-बरेली के बीच 8 मार्च से शुरू होगी हवाई सेवा
किसान आंदोलन के पूरे सप्ताह का कार्यक्रम तय, कल होगा 'पगड़ी संभाल दिवस'

विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आसपास के कई पर्यटन स्थल होने के बावजूद यह क्षेत्र काफी हद तक हवाई सेवा की सुविधा से अछूता रहा है।

इस क्षेत्र में कई उद्योगपति भी हैं, जो दिल्ली और मुंबई जैसे व्यापारिक केंद्रों तक पहुंचने के लिए उड़ानों की तलाश करते हैं।

सूत्रों ने कहा कि इन सुविधाओं की मांग लंबे समय से लंबित थी, लेकिन न तो जिला प्रशासन और न ही पिछली राज्य सरकारों ने ध्यान दिया था।

चूंकि आरसीएस के तहत एयर कनेक्टिविटी प्रदान किया जा रहा है, अतएव राज्य सरकार एयरलाइन को कई तरह की सहायता देगी। इनमें व्यवहार्यता अंतर वित्त पोषण, 4,000 इकाइयों तक मुफ्त बिजली, 10 साल के लिए विमानन टरबाइन ईंधन (एटीएफ) पर वैट माफ करना और सुरक्षा और अग्निशमन सेवा जैसी सेवाएं शामिल हैं।

राज्य सरकार सड़क संपर्क, बस सेवा और एम्बुलेंस सेवाएं भी प्रदान करेगी।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news