रंगोत्सव में दिखी मुलायम परिवार में दूरी, अखिलेश, शिवपाल ने अलग-अलग खेली होली

रंगोत्सव में दिखी मुलायम परिवार में दूरी, अखिलेश, शिवपाल ने अलग-अलग खेली होली

देश-प्रदेश के केंद्र में रहने वाले मुलायम परिवार की होली इस बार दोफाड़ में नजर आई। इस मुलायम सिंह की गैर मौजूदगी में अखिलेश और शिवपाल का अलग-अलग मंच नजर आया।

देश-प्रदेश के केंद्र में रहने वाले मुलायम परिवार की होली इस बार दोफाड़ में नजर आई। इस मुलायम सिंह की गैर मौजूदगी में अखिलेश और शिवपाल का अलग-अलग मंच नजर आया। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने चाचा प्रो़ रामगोपाल यादव और परिवार के सभी सदस्यों के साथ घर पर ही फूलों की होली खेली।

वहीं, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अपने पिता सुघर सिंह के नाम से बनाए गए एसएस मेमोरियल स्कूल में पंडाल लगाकर होली खेली, जहां उनके पुत्र आदित्य यादव भी साथ में रहे। पूर्व सांसद धर्मेद्र यादव, तेज प्रताप यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष अंशुल यादव, कार्तिकेय यादव सहित परिवार के सदस्य अखिलेश यादव की होली में ही मौजूद नजर आए।

लंबे अरसे से अपने भतीजे अखिलेश यादव से वैचारिक मतभेद के चलते प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन कर चुके शिवपाल सिंह यादव ने होली के मौके पर इस बार एक नई इबारत लिख डाली है। उन्होंने अपने पिता सुधर सिंह के नाम पर स्थापित किए एसएस मेमोरियल स्कूल में होली का जश्न अपने समर्थकों के साथ मनाया।

जहां होली को गिले-शिकवे भुलाकर मनाया जाने वाला त्योहार माना जाता है, वहीं सैफई में ठीक इसके विपरीत स्थित देखने को मिली। इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि अखिलेश के खेमे का कोई सदस्य शिवपाल की होली में नहीं गया।

हर साल सपा मुखिया अखिलेश यादव और महासचिव प्रो़ रामगोपाल यादव का संबोधन हुआ करता था, वह संबोधन आज नहीं सुनाई दिया।

इस बार पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव अस्वस्थ होने के चलते सैफई की होली में सम्मिलित नहीं हो सके। होली उत्सव के बीच अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा।

अखिलेश ने कहा कि इतनी महंगाई की किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। किसान बर्बाद हो गया है। बेरोजगारी बढ़ रही है। कोरोना महामारी का डर दिखाकर सरकार ने लोगों का वेतन छीन लिया। अखिलेश बोले कि कोरोना महामारी से निकालने के बजाय सरकार जनता को और परेशान कर रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार दुर्भावना के साथ काम कर रही है। इटावा में लायन सफारी को आज तक चालू नहीं किया गया यहां के शेर गोरखपुर ले गए हैं। समाजवादियों के कामों को अपनी उपलब्धि बताया जा रहा है। पूरे प्रदेश में किसान और नौजवान परेशान हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की यह अंतिम होली होगी। अगली बार प्रदेश में सपा की सरकार बनेगी।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news