Amarnath Yatra: 25वें दिन 7,009 तीर्थयात्रियों का एक और जत्था रवाना

पिछले 24 दिनों से 2.44 लाख से अधिक लोगों ने अमरनाथ यात्रा की है। वहीं अब रविवार को 7,009 तीर्थयात्रियों का एक और जत्था जम्मू से घाटी के लिए रवाना हुआ था।
Amarnath Yatra: 25वें दिन 7,009 तीर्थयात्रियों का एक और जत्था रवाना

पिछले 24 दिनों से 2.44 लाख से अधिक लोगों ने अमरनाथ यात्रा की है। वहीं अब रविवार को 7,009 तीर्थयात्रियों का एक और जत्था जम्मू से घाटी के लिए रवाना हुआ था।

श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के अधिकारियों ने कहा कि, 30 जून को यात्रा शुरू होने के बाद से कुल 2,44,751 लोगों ने तीर्थयात्रा की है।

शनिवार को 7,271 तीर्थयात्रियों ने पवित्र गुफा मंदिर में दर्शन किए।

रविवार की सुबह 7,009 तीर्थयात्रियों का नया जत्था जम्मू के भगवती नगर आधार शिविर से दो सुरक्षा काफिले में रवाना हुआ। इनमें से 1,504 बालटाल आधार शिविर के रास्ते जा रहे हैं, जबकि 5,505 पहलगाम आधार शिविर के रास्ते जा रहे हैं।

बालटाल मार्ग का उपयोग करने वाले यात्रियों को गुफा मंदिर तक पहुंचने के लिए 14 किमी का ट्रेक करना पड़ता है। वे दर्शन के बाद उसी दिन आधार शिविर लौट जाते हैं।

पारंपरिक पहलगाम मार्ग का उपयोग करने वालों को समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊपर स्थित मंदिर तक पहुंचने के लिए चार दिनों के लिए 48 किमी की यात्रा करनी पड़ती है।

दोनों मार्गो पर हेलीकॉप्टर सेवाएं भी उपलब्ध हैं।

गुफा मंदिर में एक बर्फ की स्टैलेग्माइट संरचना है जो चंद्रमा के चरणों के साथ कम हो जाती है और मोम हो जाती है।

भक्तों का मानना है कि बर्फ की स्टैलेग्माइट संरचना भगवान शिव की पौराणिक शक्तियों का प्रतीक है।

तीर्थयात्रा 11 अगस्त या श्रावण पूर्णिमा को रक्षा बंधन त्योहार के साथ संपन्न होगी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news