Amazon ने छंटनी की पुष्टि की, कर्मचारियों ने कहा लोगों से व्यवहार करने का भयावह तरीका

ई-कॉमर्स की दिग्गज कंपनी अमेजन ने कंपनी में नौकरी की छंटनी की पुष्टि की है, यह कहते हुए कि वर्तमान मैक्रोइकॉनॉमिक माहौल में, कुछ टीमें दूसरी टीमों और कार्यक्रमों के साथ एडजस्ट कर रही हैं।
Amazon ने छंटनी की पुष्टि की, कर्मचारियों ने कहा लोगों से व्यवहार करने का भयावह तरीका

ई-कॉमर्स की दिग्गज कंपनी अमेजन ने कंपनी में नौकरी की छंटनी की पुष्टि की है, यह कहते हुए कि वर्तमान मैक्रोइकॉनॉमिक माहौल में, कुछ टीमें दूसरी टीमों और कार्यक्रमों के साथ एडजस्ट कर रही हैं।

कंपनी ने निकाले जानेवाले कर्मचारियों की सही संख्या का खुलासा नहीं किया, हालांकि पहले की रिपोर्ट में यह संख्या 10,000 या कुल संख्या का 3 प्रतिशत बताई गई थी।

टेकक्रंच ने बुधवार को कंपनी के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा, हमारी वार्षिक परिचालन योजना समीक्षा प्रक्रिया के भाग के रूप में, हम हमेशा अपने प्रत्येक व्यवसाय को देखते हैं और हम मानते हैं कि हमें क्या बदलना चाहिए।

प्रवक्ता ने कहा, जैसा कि हम इससे गुजरे हैं, वर्तमान व्यापक आर्थिक वातावरण (साथ ही कई वर्षों के तेजी से काम पर रखने) को देखते हुए, कुछ टीमें समायोजन कर रही हैं, जिसका अर्थ है कि कुछ कर्मचारियों की अब जरूरत नहीं है।

हम इन फैसलों को हल्के में नहीं लेते हैं और हम प्रभावित होने वाले किसी भी कर्मचारी का समर्थन करने के लिए काम कर रहे हैं।

डिवाइसेस एंड सर्विसेज के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डेव लिम्प ने भी एक आंतरिक पोस्ट लिखा, जिसमें कहा गया है कि गहरी समीक्षाओं के बाद, हमने हाल ही में कुछ टीमों और प्रोगरामों को समेकित करने का निर्णय लिया है।

लिम्प ने लिखा, इन निर्णयों में से एक परिणाम यह है कि अब कुछ भूमिकाओं की आवश्यकता नहीं होगी।

वहीं कंपनी के इस फैसले पर कर्मचारियों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

कंपनी के एक वरिष्ठ प्रबंधक ने रिकोड को बताया, इस मामले की सच्चाई यह है कि अगर कंपनी अधिक पारदर्शी होती, तो हमारे साथ ऐसा व्यवहार नहीं होता। अब अधिकांश कर्मचारी सोच रहे हैं कि क्या वे अगले टारगेट होंगे।

अमेजन के एक अन्य वरिष्ठ प्रबंधक ने कहा, मुझे यह भी नहीं पता कि मैं इस कंपनी के लिए और काम करना जारी रखूंगा या नहीं। यह लोगों के साथ व्यवहार करने का एक भयानक तरीका है।

मेटा, ट्विटर, सेल्सफोर्स और अन्य ने पहले ही हजारों कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है, जिसमें अकेले मेटा से 11,000 से अधिक कर्मचारी निकाले गए हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news