अमेजन ने अपने वर्कर्स के 'बोतलों में पेशाब करने' की बात से किया इनकार

अमेजन ने अपने वर्कर्स के 'बोतलों में पेशाब करने' की बात से किया इनकार

कथित रूप से अपने कम वेतन वाले कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार करने के बढ़ते सबूतों के बीच अमेजन ने अपने प्रतिष्ठानों में शोषण करने वाले वर्किंग कंडीशन्स से इनकार किया है। इसमें थके हुए वर्कर्स को 'बोतलों में पेशाब करने' के लिए मजबूर करना शामिल है।

कथित रूप से अपने कम वेतन वाले कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार करने के बढ़ते सबूतों के बीच अमेजन ने अपने प्रतिष्ठानों में शोषण करने वाले वर्किंग कंडीशन्स से इनकार किया है। इसमें थके हुए वर्कर्स को 'बोतलों में पेशाब करने' के लिए मजबूर करना शामिल है। अमेरिकी प्रतिनिधि मार्क पोकन (डी-डब्ल्यूआई) के एक ट्वीट का जवाब देते हुए ई-कॉमर्स ने कहा कि कंपनी की एकजुटता को तोड़ने की रणनीति के तहत लगाए गए ये आरोप निराधार हैं।

पोकेन ने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा, "वर्कर्स को 15 डॉलर प्रति घंटा के हिसाब से भुगतान करना ही आपको 'प्रगतिशील कार्यस्थल' (प्रोग्रेसिव वर्कप्लेस) नहीं बनाता है जब आप वर्कर्स को पानी की बोतलों में पेशाब करने के लिए विवश करते हैं।"

अमेजन ने जवाब दिया, "आप वाकई बोतल जैसी चीज में पेशाब करने पर विश्वास नहीं करते हैं, क्या आप करते हैं? यदि यह सच है तो कोई भी हमारे लिए काम नहीं करेगा। सच्चाई तो यह है कि हमारे पास दुनिया भर में 10 लाख से अधिक विश्वसनीय कर्मचारी हैं जो अपने काम पर गर्व करते हैं। हमारे साथ जुड़ने के पहले ही दिन से उन्हें अच्छा वेतन और बेहतर हेल्थकेयर की सुविधा प्रदान की जाती है।"

कंपनी ने यह भी कहा कि हमें उम्मीद है कि आप ऐसी नीतियां बना सकते हैं जिसे अन्य नियोक्ता भी ऑफर कर सकते हैं।

इस मसले पर ट्विटर वॉर छिड़ गया है। अमेजन के प्रतिष्ठानों में ऐसी घटनाओं को लेकर कई पत्रकारों और आम लोगों ने भी ट्विटर पर ढेर सारी प्रतिक्रिया दी है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news