Green Comet: कल होने वाली है अभूतपूर्व खगोलीय घटना, 50 हजार साल बाद पहली बार दिखेगा हरा धूमकेतु

हरा धूमकेतु करीब 50 हजार साल बाद पहली बार नजर आएगा। इसे एक अभूतपूर्व खगोलीय घटना माना जा रहा है।
Green Comet: कल होने वाली है अभूतपूर्व खगोलीय घटना, 50 हजार साल बाद पहली बार दिखेगा हरा धूमकेतु

अंतरिक्ष रहस्यों से भरा है। अंतरिक्ष में कई रोचक और हैरान कर देने वाली घटनाएं हो रही हैं। इन घटनाक्रमों पर खगोलविदों की नजर है। खगोलशास्त्री भी इन घटनाक्रमों को जानने के इच्छुक हैं। 

12 जनवरी को भी कुछ ऐसी ही खगोलीय घटना होने वाली है। हरा धूमकेतु करीब 50 हजार साल बाद पहली बार नजर आएगा। इसे एक अभूतपूर्व खगोलीय घटना माना जा रहा है। 
एथ्री नामक इस धूमकेतु की खोज खगोलविदों ने 2 मार्च, 2022 को की थी। 

यह धूमकेतु बृहस्पति के करीब से गुजरा। नासा ने कहा है कि यही धूमकेतु पृथ्वी के करीब आएगा। यह धूमकेतु 12 जनवरी को दिखाई देगा। 

कैलिफ़ोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में भौतिकी के प्रोफेसर प्रिंस इस धूमकेतु के बारे में अधिक बताते हैं। धूमकेतु का व्यास लगभग एक किलोमीटर होगा। साथ ही इस धूमकेतु से हरी रोशनी भी दिखाई देगी। 

इससे पहले मार्च 2020 में खगोलविदों को कॉमेट न्यूवाइज देखने का मौका मिला था। 1997 में हेलबॉप नामक धूमकेतु देखा गया था। हेलबॉप सबसे बड़ा धूमकेतु था। इसका व्यास लगभग 60 किलोमीटर था। यह लगभग 18 महीने तक आसमान में दिखाई देता रहा। कॉमेट मैकनॉट को 2007 में पृथ्वी से देखा गया था। 

धूमकेतु क्या है?

धूमकेतु हमारे सौर मंडल का हिस्सा माने जाते हैं। धूमकेतु खुरदरे पत्थरों के आकार के होते हैं। समलैंगिक धूमकेतु धूल, बर्फ और गैस से बनते हैं। इन धूमकेतुओं का आकार कई किलोमीटर तक फैला हुआ देखा जा सकता है। ये धूमकेतु अपनी परिक्रमा के दौरान सूर्य के करीब जाते हैं। 

इस समय सूर्य की तीव्रता के कारण उनमें जमी बर्फ पिघल जाती है। इससे धूमकेतुओं का आकार बदल जाता है। पृथ्वी से देखे गए इन चित्रों में अजीब आकार के धूमकेतु की पूंछ दिखाई देती है। यह पूँछ दो भागों में विभक्त होती है। एक पूँछ धूल की और दूसरी गैसों की होती है। 

इन धूमकेतुओं से निकलने वाली धूल भी उल्कापिंडों की बारिश का कारण बनती है क्योंकि ये पृथ्वी के पास से गुजरते हैं। सौर मंडल में, ये धूमकेतु अपनी-अपनी कक्षाओं में सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाते हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news