Assembly Elections 2022: उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में होगा मतदान, 10 मार्च को पांचों राज्यों के आएंगे नतीजे

उत्‍तर प्रदेश में चुनाव सात चरणों में जबकि मणिपुर में दो चरणों में विधानसभा चुनाव होगा। बाकी तीन राज्‍यों- पंजाब, गोवा और उत्‍तराखंड में एक ही चरण में चुनाव निपट जाएगा। यूपी में पहले चरण का मतदान 10 फरवरी 2022 से शुरू होगा।
Assembly Elections 2022: उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में होगा मतदान, 10 मार्च को पांचों राज्यों के आएंगे नतीजे

भारत निर्वाचन आयोग ने पांच राज्‍यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की।

7 चरणों में यूपी का विधानसभा चुनाव

उत्‍तर प्रदेश में चुनाव सात चरणों में जबकि मणिपुर में दो चरणों में विधानसभा चुनाव होगा। बाकी तीन राज्‍यों- पंजाब, गोवा और उत्‍तराखंड में एक ही चरण में चुनाव निपट जाएगा। यूपी में पहले चरण का मतदान 10 फरवरी 2022 से शुरू होगा। पांचों राज्‍यों में मतगणना 10 मार्च 2022 को होगी। चुनाव आयोग की ओर से जारी 5 राज्‍यों का चुनाव कार्यक्रम (Assembly Election Schedules Of 5 States) आप नीचे देख सकते हैं।

यूपी, उत्‍तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव का विस्‍तृत कार्यक्रम

403 विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में 7 चरणों मतदान होगा। इसके अलावा उत्तराखंड, गोवा और पंजाब में 14 फरवरी को एक ही राउंड में मतदान होना है। मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को वोटिंग होगी। उत्तर प्रदेश में पहले राउंड की वोटिंग 10 फरवरी को होगी। इसके बाद दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को होना है। 20 फरवरी को तीसरे और 23 तारीख को चौथे राउंड की वोटिंग होगी। 27 फरवरी को 5वें, 3 मार्च को छठे और 7 मार्च को 7राउंड का मतदान होना है। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने बताया कि 10 मार्च को सभी 5 राज्यों के नतीजों का ऐलान किया जाएगा।

5 राज्‍यों में आदर्श आचार संहिता लागू

इन पांच राज्‍यों में से चार में बीजेपी की सरकार है जबकि पंजाब में कांग्रेस सत्‍ता में है। चुनावी बिगुल बजने से साथ इन पांच राज्‍यों में आदर्श आचार संहिता (Model Code Of Conduct) लागू हो गई। मतदान कार्यक्रम के अलावा, पूरे भारत में मामलों की बढ़ती संख्या के बीच कोविड-19 प्रोटोकॉल (Covid-19 Protocol) की भी घोषणा भी हुई।

हर सीट पर एक बूथ महिलाओं के जिम्‍मे

  • मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया कि इन चुनावों में 18 करोड़ से ज्यादा वोटर हिस्सा लेंगे।

  • 18.34 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। 24.9 लाख वोटर पहली बार वोट डालेंगे।

  • मतदान केंद्रों की संख्या 2,15,368 है, 2017 के विधानसभा चुनावों से मतदान केंद्रों की संख्या 16% बढ़ाई गई है।

  • 80 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांग व्यक्ति और कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति पोस्टल बैलेट से मतदान कर सकते हैं।

  • हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम एक पोलिंग स्टेशन ऐसा होगा जिसका संचालन पूरी तरह से महिलाएं करेंगी।

  • कुल 900 पर्यवेक्षक चुनाव प्रक्रिया पर नजर रखेंगे, जरूरी होने पर स्पेशल ऑब्जर्वर भी तैनात किए जाएंगे।

वोटर्स को मिलेगी मिनी गाइड

चुनाव आयोग ने कहा कि C VIGIL ऐप पर किसी भी तरह के चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दी जा सकेगी। सीईसी ने कहा कि हम चाहते हैं कि वोटर अपने मताधिकार को लेकर जागरूक हों, इसलिए हमने वोटरों तक पहुंचने के लिए विशेष अभियान चलाएंगे, वोटरों को एक छोटी सी वोटर गाइड मुहैया कराई जाएगी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news