आज से लॉन्च हो रहा 'भारत दर्शन ट्रेन', मध्य प्रदेश से होगा शुरू IRCTC का यह पैकेज, जानें कितने देने होंगे पैसे

ये टूर पैकेज सभी को शामिल करने के लिए हैं, आईआरसीटीसी टीम ने इन पैकेजों को बनाते हुए यात्रियों की सभी यात्रा जरूरतों का ख्याल रखा है। इस पैकेज के तहत यात्री सस्ते और आरामदायक यात्रा का मजा ले सकेंगे।
आज से लॉन्च हो रहा 'भारत दर्शन ट्रेन', मध्य प्रदेश से होगा शुरू IRCTC का यह पैकेज, जानें कितने देने होंगे पैसे

भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) देश में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आज मध्य प्रदेश से एक और भारत दर्शन पर्यटक ट्रेन शुरू करने जा रही है। बता दें कि इसस पहले आईआरसीटीसी ने एक टूरिस्ट ट्रेन को भी लॉन्च किया है। जो उत्तरपूर्व के 5 राज्यों में जाएगी, जिसका उद्देश्य 'देखो अपना देश' है।

ये टूर पैकेज सभी को शामिल करने के लिए हैं, आईआरसीटीसी टीम ने इन पैकेजों को बनाते हुए यात्रियों की सभी यात्रा जरूरतों का ख्याल रखा है। इस पैकेज के तहत यात्री सस्ते और आरामदायक यात्रा का मजा ले सकेंगे।

प्रदेश से शुरू की जा रही भारत दर्शन ट्रेन रीवा स्टेशन से शुरू होगी और अंततः रेलवे स्टेशनों से यात्रा करेगी जो यात्रियों को आगरा, मथुरा, हरिद्वार, ऋषिकेश, अमृतसर और यहां तक ​​​​कि वैष्णो देवी मंदिर (कटरा) तक यात्रा करेगी।इस ट्रेन को चलाने का मुख्य उद्देश्य "उत्तर भारत के खूबसूरत ऐतिहासिक और भक्ति स्थलों का बेहतर अनुभव" देना है।

इस टूर पैकेज में यात्रियों को बजट होटलों या धर्मशालाओं के साथ-साथ टूरिस्ट बसों में ठहरने के साथ नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का खाना उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही यात्रियों को ₹4 लाख तक का दुर्घटना बीमा भी दिया जाएगा। यात्रा की पूरी अवधि के दौरान, आईआरसीटीसी टीम स्वच्छता और स्वास्थ्य से संबंधित सभी प्रोटोकॉल का ध्यान रखेगी और हर समय सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए यात्रियों को सुरक्षित और चिंता मुक्त अनुभव प्रदान करेगी।

आज मध्य प्रदेश से शुरू होने वाली विशेष ट्रेन के लिए भारत दर्शन टूर पैकेज में स्लीपर क्लास के लिए प्रति व्यक्ति 8,505 रुपये और एसी 3-टियर के लिए प्रति व्यक्ति 10,395 रुपये खर्च होंगे। इस यात्रा को बुक करने के लिए जरूरी है कि यात्रा ने कोरोना टीके की दोनों डोज ले रखी हों. 18 साल से ऊपर के लोग ही इसके तहत टिकट बुक कर सकते हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.