Bihar Election: फिर से NDA में वापसी के आसार, RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की बिहार BJP प्रभारी से हुई बात
ताज़ातरीन

Bihar Election: फिर से NDA में वापसी के आसार, RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की बिहार BJP प्रभारी से हुई बात

बातचीत में उपेंद्र ने स्वीकार किया है कि महागठबंधन में उनकी अहमियत कम आंकी जा रही है। सीटों की कौन कहे, संख्या के मसले पर भी बातचीत शुरू नहीं हुई है।

Yoyocial News

Yoyocial News

महागठबंधन में राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी के कड़े रूख को लेकर बिहार में सियासत गरमाती दिख रही है। जीतनराम मांझी के बाद अब उपेंद्र कुशवाहा ने भी अलग राह पकड़ ली है। इसका फैसला आरएलएसपी की बैठक में गुरुवार को किया गया। बैठक में कुशवाहा ने महागठबंधन के आगे की राह पर विचार की बात भी कही।

महागठबंधन से अलग होने की राह पर चल पड़ी आरएलएसपी, भाजपा से भी नजदीकियां बढ़ा रही है। जानकारी के मुताबिक पार्टी नेताओं के साथ बैठक करने से पहले आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव से बातचीत की है। सूत्रों के अनुसार दोनों नेताओं के बीच हाल के दिनों में दो-तीन दौर की बातचीत हो चुकी है।

बातचीत में उपेंद्र ने स्वीकार किया है कि महागठबंधन में उनकी अहमियत कम आंकी जा रही है। सीटों की कौन कहे, संख्या के मसले पर भी बातचीत शुरू नहीं हुई है। कई बार उपेंद्र कुशवाहा ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से मिलकर बातचीत करने की कोशिश की लेकिन वे नाकामयाब रहे। मजबूरी में उनकी पार्टी के नेताओं को राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह से बातचीत करनी पड़ी।

इसी क्रम में भाजपा नेता से इनकी बातचीत को इनकी फिर से एनडीए में वापसी से जोड़कर भी देखा जा रहा है। हालांकि रालोसपा का एक धड़ा अकेले लड़ने या तीसरा मोर्चा बनाकर कुछ और दलों के साथ चुनाव लड़ने का भी परामर्श दे रहा है।

उधर, जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने आरोप लगाया कि तेजस्वी प्रसाद यादव के अहंकार की वजह से महागठबंधन टूट के कगार पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव की स्वीकार्यता न तो जनता के बीच है और न ही उनकी पार्टी के बड़े नेताओं में है। कार्यकर्ताओं में भी उनकी साख घट रही है। गठबंधन के साथी भी उन्हें गंभीरता से लेने के लिए तैयार नहीं है।

राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि श्री यादव के अहंकार ने महागठबंधन में बिखराव की जो प्रक्रिया है उसको काफी तेज कर दिया है। कहा कि महागठबंधन को उसके ही एक घटक दल ने आईसीयू में बताया है और समझा जा सकता है कि किस कदर सीटों के तालमेल को लेकर महागठबंधन में घमासान मचा हुआ है और कोहराम की स्थिति है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news