बिकरू हत्याकांड: हथियारों पर कई फिंगरप्रिंट्स मिले
ताज़ातरीन

बिकरू हत्याकांड: हथियारों पर कई फिंगरप्रिंट्स मिले

बिकरू हत्याकांड को लेकर फॉरेंसिक साइंस लेबोरेट्री (FSL) की जांच में सामने आया है कि घटना में इस्तेमाल किए गए हथियारों पर कई लोगों की अंगुलियों के निशान (फिंगरप्रिंट्स) मिले हैं।

Yoyocial News

Yoyocial News

बिकरू हत्याकांड को लेकर फॉरेंसिक साइंस लेबोरेट्री (FSL) की जांच में सामने आया है कि घटना में इस्तेमाल किए गए हथियारों पर कई लोगों की अंगुलियों के निशान (फिंगरप्रिंट्स) मिले हैं।

गैंग्सटर विकास दुबे व उसके साथियों ने 3 जुलाई को आठ पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। एक एफएसएल अधिकारी ने आईएएनएस को गुरुवार को बताया, "हमने देशी कट्टे के अलावा पिस्तौल, राइफल, सिंगल एंड डबल-बैरल गन समेत दस हथियार बरामद किए थे। इन हथियारों पर एक से ज्यादा लोगों के निशान थे, जिससे पता चलता है कि घटना के दौरान इसका प्रयोग एक से ज्यादा लोगों ने किया था।"

हथियारों पर कई फिंगरपिंट्र्स से जांचकर्ताओं के सामने आरोपी के फिंगरप्रिंट से मिलान करना मुश्किल हो जाएगा।

इस बीच, कानपुर में जिला अधिकारियों ने दुबे के आठ और साथियों के हथियारों के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं।

बिकरू हत्याकांड के बाद, जिला प्रशासन ने दुबे के करीबी सहयोगियों और परिजनों को जारी 25 हथियारों के लाइसेंस को रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी।

एडीएम (सिटी) अतुल कुमार ने पत्रकारों को बताया कि प्रशासन ने दीपक दुबे, श्रीकांत शुक्ला, रमेश चंद द्विवेदी, राकेश कुमार, रविंदर कुमार, सुरज सिंह और आशुतोष के हथियार लाइसेंस को रद्द कर दिया है। इनमें से सुरज और आशुतोष को छोड़कर सभी बिकरू गांव के रहने वाले हैं।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news