सीमा विवाद: अरुणाचल सेक्टर पर आमने-सामने आए भारत और चीन के सैनिक, भारतीय सेना ने खदेड़ा

इस दौरान भारतीस सेना ने चीन के कुछ सैनिकों को बंदी भी बना लिया था, लेकिन विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, ये गतिरोध कुछ घंटों तक रहा और दोनों देशों के मिलिट्री कमांडर्स की मीटिंग के बाद मामले को सुलझा लिया गया था।
सीमा विवाद: अरुणाचल सेक्टर पर आमने-सामने आए भारत और चीन के सैनिक, भारतीय सेना ने खदेड़ा

चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। भारत से सटी सीमाओं पर उसके सैनिक अक्सर भारत में घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं। इससे बार-बार सीमा पर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो रही है। पूर्वी लद्दाख से सटी एलएसी पर चल रहे तनाव के बाद अब अरूणाचल प्रदेश में भी भारत और चीन की सेनाओं के बीच फेसऑफ की खबर आई है। रक्षा सूत्रों के मुताबिक, पिछले सप्ताह अरुणाचल सेक्टर पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच फिर से तनाव बढ़ गया।चीन के करीब 200 सैनिकों ने अरूणाचल प्रदेश के यांत्गसे सेक्टर में लाइन ऑफ एक्चुयल कंट्रोल (एलएसी) पर पैट्रोलिंग के दौरान घुसपैठ की कोशिश की थी, जिससे घंटों तनाव की स्थिति रही।  इस दौरान भारतीस सेना ने चीन के कुछ सैनिकों को बंदी भी बना लिया था, लेकिन विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, ये गतिरोध कुछ घंटों तक रहा और दोनों देशों के मिलिट्री कमांडर्स की मीटिंग के बाद मामले को सुलझा लिया गया था।

लोकल कमांडरों ने संभाला मोर्चा 

अरुणाचल सेक्टर में औपचारिक रूप से दोनों देशों की सीमाओं को सीमांकित नहीं किया गया है। इसलिए एलएसी को लेकर दोनों देशों की सेनाओं की अपनी-अपनी धारणाएं हैं, लेकिन पिछले पेट्रोलिंग के दौरान चीनी सैनिक भारत की सीमा के बेहद करीब तक आ गए, जिससे तनाव बढ़ गया।  इसके बाद दोनों देशों के लोकल कमांडरों ने मोर्चा संभाला और आपसी बातचीत के बाद मौजूदा प्रोटोकॉल के तहत सेनाएं पीछे हट गईं। रक्षा सूत्रों के मुताबिक, इस तनातनी में किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है। 

भारतीय सैनिकों ने 200 चीनी सैनिकों को रोका 

जानकारी के मुताबिक, चीन की पीएलए सेना की दो टुकड़ियों ने एक साथ यांत्गसे सेक्टर में घुसपैठ की थी. दोनों टुकड़ियों में करीब करीब 100-100 सैनिक थे (यानि दो कंपनियां). इसी दौरान भारतीय सेना की पैट्रोलिंग पार्टी भी वहां पहुंच गई और दोनों देशों के बीच गतिरोध पैदा हो गया. हालांकि, इस बात की जानकारी नहीं मिला है कि इस दौरान कोई धक्का मुक्की या फिर झगड़ा हुआ, लेकिन ये जरूर पता चल पाया है कि भारतीय सेना ने कुछ चीनी सैनिकों को बंदी जरूर बना लिया था.

दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई गतिरोध की जानकारी जैसे ही मिलिट्री कमांडर्स को मिली, उसी दिन अरूणाचल प्रदेश के बूमला बीपीएम (बॉर्डर पर्सनैल मीटिंग) हट में एक बैठक हुई और कुछ घंटों के बाद ही मामले को सुलझा लिया गया.

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.