piyush goyal
piyush goyal
ताज़ातरीन

सरकार के प्रयासों से पिछले साल से कम हुए प्याज के दाम : पीयूष गोयल

पीयूष गोयल ने एक ट्वीट के जरिए कहा, "किफायती दरों पर प्याज उपलब्ध कराने के लिए सरकार के प्रयासों से प्याज के दाम पिछले वर्ष से भी कम हो गए हैं। प्याज की खुदरा दर में ये कमी उपभोक्ता हित में सरकार द्वारा लिए गए विभिन्न निर्णयों से आई है।"

Yoyocial News

Yoyocial News

केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि किफायती दरों पर प्याज उपलब्ध कराने की दिशा में सरकार द्वारा किए गए प्रयासों से प्याज के दाम पिछले वर्ष से भी कम हो गए हैं। देश की राजधानी दिल्ली में विगत कुछ दिनों से प्याज के खुदरा दाम में थोड़ी गिरावट आई है और पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले प्याज कम भाव पर मिलने लगा है।

दिल्ली-एनसीआर में प्याज का औसत खुदरा भाव 60 रुपये से नीचे आ गया है जो कुछ दिनों पहले 90 रुपये प्रति किलो तक चला गया था। थोक भाव में भी थोड़ी नरमी आई है।

गोयल ने एक ट्वीट के जरिए कहा, "किफायती दरों पर प्याज उपलब्ध कराने के लिए सरकार के प्रयासों से प्याज के दाम पिछले वर्ष से भी कम हो गए हैं। प्याज की खुदरा दर में ये कमी उपभोक्ता हित में सरकार द्वारा लिए गए विभिन्न निर्णयों से आई है।"

प्याज के दाम में वृद्धि पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने निर्यात पर रोक लगाने के साथ-साथ प्याज पर स्टॉक लिमिट लगा दी। इसके अलावा सरकार ने आयात के नियमों में भी ढील दी, ताकि विदेशों से प्याज आने से घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ने से कीमतों को नियंत्रण में रखा जा सके।

प्याज कारोबारी भी बताते हैं कि विदेशों से प्याज आने और इस पर स्टॉक लिमिट लगने से कीमतों पर लगाम लगी है, नहीं तो प्याज के दाम आसमान छू जाते।

उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक मंत्रालय के साथ-साथ रेल मंत्रालय और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की भी जिम्मेदारी पीयूष गोयल के ही पास हैं। उन्होंने कहा कि प्याज के दाम में बढ़ोतरी पर लगाम लगाने के लिए सभी कारगर कदम उठाए गए।

केंद्र सरकार ने 14 सितंबर को प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी, इसके बाद 23 अक्टूबर को थोक एवं खुदरा व्यापारियों के लिए प्याज का स्टॉक रखने की सीमा तय कर दी गई, जिसके अनुसार, खुदरा कारोबारी अधिकतम दो टन और थोक व्यापारी अधिकतम 25 टन प्याज का स्टॉक कर सकता है। सरकार ने 31 दिसंबर, 2020 तक की अवधि के लिए प्याज पर स्टॉक लिमिट लगाई है। इसके अलावा, नैफेड के पास पड़े बफर स्टॉक से भी प्याज बाजारों में उतारे गए।

दिल्ली की आजादपुर मंडी एपीएमसी की आधिकारिक कीमत सूची के अनुसार, मंडी में गुरुवार को प्याज का थोक भाव 15 रुपये से 42.50 रुपये प्रति किलो था, जबकि एक साल पहले 12 नवंबर को मंडी में प्याज का भाव 15 रुपये से 55 रुपये प्रति किलो था।

वहीं, उपभोक्ता मामले विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध कीमत के अनुसार, गुरुवार को दिल्ली में प्याज का खुदरा भाव 55 रुपये प्रति किलो था और इस महीने दाम में 10 रुपये प्रति किलो की कमी आई है। वहीं, पिछले साल इसी दिन प्याज का खुदरा भाव दिल्ली में 64 रुपये प्रति किलो था।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news