कनाडा अन्य देशों को 17.7 मिलियन एस्ट्राजेनेका वैक्सीन दान करेगा

कनाडा ने निम्न और मध्यम आय वाले देशों को एस्ट्राजेनेका कोरोनावायरस वैक्सीन की 17.7 मिलियन खुराक दान करने की घोषणा की है।
कनाडा अन्य देशों को 17.7 मिलियन एस्ट्राजेनेका वैक्सीन दान करेगा

कनाडा ने निम्न और मध्यम आय वाले देशों को एस्ट्राजेनेका कोरोनावायरस वैक्सीन की 17.7 मिलियन खुराक दान करने की घोषणा की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, सरकार की एडवांस परचेज मंत्री अनीता आनंद ने कहा कि वैक्सीन की खुराक कंपनी के साथ कनाडा सरकार के अग्रिम खरीद समझौते का एक हिस्सा है और इसे कोवैक्स के माध्यम से वितरित किया जाएगा।

कोवैक्स एक वैश्विक वैक्सीन-साझाकरण पहल है, जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन, गठबंधन फॉर एपिडेमिक प्रिपेयर्डनेस इनोवेशन और गावी, वैक्सीन एलायंस द्वारा संयुक्त रूप से समन्वित किया गया है।

आनंद ने कहा "यह दान हमारे शुरूआती अनुबंधों में करोड़ों कोविड टीकों को हासिल करने के लिए हमारे सक्रिय ²ष्टिकोण का परिणाम है। कनाडा में करीब 55 मिलियन टीकों के साथ, और इस टीके के लिए प्रांतों और क्षेत्रों की मांगों को पूरा करने के साथ, हम अब इन अतिरिक्त खुराकों को दान करने की स्थिति में हैं।"

सरकार ने यह भी घोषणा की है कि वह यूनिसेफ के साथ एक दान-मिलान धन उगाहने वाले अभियान पर साझेदारी कर रही है जिससे कनाडाई लोगों को सी डॉलर 10 का योगदान करके टीके की खुराक दान करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

यह अभियान छह सितंबर तक चलेगा।

आनंद ने कहा कि अगर यूनिसेफ अभियान को अधिकतम किया जाता है, तो यह उन देशों में 40 लाख लोगों को टीकाकरण के लिए पर्याप्त धन उपलब्ध कराएगा जहां टीकाकरण अभियान मांग को पूरा करने के लिए लोग संघर्ष कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि एस्ट्राजेनेका की खुराक सरकार द्वारा कंपनी के साथ किए गए अग्रिम खरीद समझौते से आ रही है और ये खुराक, जो संयुक्त राज्य अमेरिका में निर्मित की जाएगी, आने वाले हफ्तों में कोवैक्स की सप्लाई होने लगेगी।

कनाडा की सार्वजनिक स्वास्थ्य एजेंसी और टीकाकरण पर राष्ट्रीय सलाहकार समिति ने एस्ट्राजेनेका के उत्पाद पर मॉडर्ना या फाइजर जैसे एमआरएनए टीकों की 'अनुशंसा' की है।

यह सिफारिश सबूतों के मद्देनजर की गई थी कि, दुर्लभ मामलों में, एस्ट्राजेनेका टीका कुछ लोगों में संभावित घातक रक्त के थक्के का कारण बन सकती है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news