narendra modi
narendra modi
ताज़ातरीन

केंद्र सरकार का फैसला, प्राइवेट कंपनियों के लिए खुला अंतरिक्ष का रास्ता, जल्द शुरू हो सकता है काम

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में कुछ बदलावों को मंज़ूरी दी गई. सरकार ने इस क्षेत्र को निजी हाथों के लिए भी खोलने का फैसला किया है.

Yoyocial News

Yoyocial News

अंतरिक्ष विज्ञान में भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में है, जिसने अपनी क्षमता के बल पर कई उपलब्धियां पाई हैं. इसे भारत की अपनी स्पेस एजेंसी इसरो ने सम्भव कर दिखाया है. उपग्रहों को अंतरिक्ष में छोड़ने से लेकर अपना रॉकेट मंगल ग्रह और चांद तक भेजने तक इसरो ने कामयाबी के झंडे गाड़े हैं. लेकिन अब देश में अंतरिक्ष विज्ञान की तस्वीर बदल सकती है क्योंकि मोदी सरकार ने इस क्षेत्र को निजी हाथों के लिए भी खोलने का फैसला किया है.

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में कुछ बदलावों को मंज़ूरी दी गई. अंतरिक्ष विज्ञान विभाग के राज्य मंत्री डॉक्टर जितेंद्र सिंह ने इन बदलावों को सुधार का बड़ा कदम कहा है. इनमें एक अहम ऐलान अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र को प्राइवेट सेक्टर के लिए भी खोलने का है.

जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारतीय अंतरिक्ष ढांचे का उपयोग करने को लेकर निजी कंपनियों के लिए खेल का मैदान उपलब्ध कराने के लिए इंडियन नेशनल स्पेस प्रोमोशन एंड अथॉराइजेशन (IN-SPACE) का गठन किया गया है. यह अंतरिक्ष गतिविधियों में निजी उद्योगों को हाथ से पकड़ेगा, बढ़ावा देगा और मार्गदर्शन करेगा.

IN-SPACE कैसे काम करेगा...

इंडियन नेशनल स्पेस प्रोमोशन एंड अथॉराइजेशन सेंटर निजी क्षेत्र की कंपनियों के लिए समान अवसर उपलब्ध कराएगा. यह बढ़ावा देने वाली नीतियों तथा अनुकूल नियामकीय वातावरण के जरिए अंतरिक्ष गतिविधियों में निजी क्षेत्र की आरंभिक सहायता करेगा, उन्हें बढ़ावा तथा दिशा-निर्देश देगा.

सरकार के महत्वाकांक्षी मिशन गगनयान पर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से इसमें देरी हुई लेकिन मिशन अब फिर से वापस ट्रैक पर आ गया है.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news