Rabi Season: उर्वरक मंत्रालय ने कहा- रबी सीजन में खाद की कोई कमी नहीं, सभी राज्यों को भेज रही सरकार

केंद्र ने शुक्रवार को कहा कि रबी सीजन के दौरान किसानों की जरूरतों को पूरा करने के लिए देश में पर्याप्त उर्वरक उपलब्ध है।
Rabi Season: उर्वरक मंत्रालय ने कहा- रबी सीजन में खाद की कोई कमी नहीं, सभी राज्यों को भेज रही सरकार

केंद्र ने शुक्रवार को कहा कि रबी सीजन के दौरान किसानों की जरूरतों को पूरा करने के लिए देश में पर्याप्त उर्वरक उपलब्ध है।

रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि सरकार सभी राज्यों को जरूरत के हिसाब से उर्वरक भेज रही है और यह संबंधित राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है कि वे उचित वितरण के माध्यम से राज्यों के भीतर उपलब्धता सुनिश्चित करें।

रबी 2022-23 के दौरान पूरे भारत में यूरिया की अनुमानित आवश्यकता 180.18 एलएमटी है। 16 नवंबर तक यथानुपात आवश्यकता 57.40 एलएमटी है, जिसके खिलाफ उर्वरक विभाग (डीओएफ) ने 92.54 एलएमटी की उपलब्धता सुनिश्चित की है। इस दौरान यूरिया की बिक्री 38.43 लाख मीट्रिक टन रही है। इसके अलावा, राज्यों के पास 54.11 एलएमटी का क्लोजिंग स्टॉक पड़ा हुआ है। इसके अलावा यूरिया संयंत्रों में 1.05 एलएमटी और बंदरगाहों पर 5.03 एलएमटी का स्टॉक उपलब्ध है ताकि यूरिया की मांग को पूरा किया जा सके।

इसी तरह, रबी 2022-23 के दौरान डीएपी उर्वरक के लिए अनुमानित अखिल भारतीय आवश्यकता 55.38 एलएमटी है। 16 नवंबर तक यथानुपात आवश्यकता 26.98 एलएमटी है, जिसके विरुद्ध डीओएफ ने 36.90 एलएमटी की उपलब्धता सुनिश्चित की है।

इसी तरह, रबी 2022-23 के दौरान एमओपी के लिए अनुमानित अखिल भारतीय आवश्यकता 14.35 एलएमटी है। 16.11.2022 तक यथानुपात आवश्यकता 5.28 एलएमटी है, जिसके लिए डीओएफ ने 8.04 एलएमटी की उपलब्धता सुनिश्चित की है।

एनपीकेएस के मामले में, रबी 2022-23 के दौरान इस उर्वरक के लिए अनुमानित अखिल भारतीय आवश्यकता 56.97 एलएमटी है। 16.11.2022 तक यथानुपात आवश्यकता 20.12 एलएमटी है, जिसके लिए डीओएफ ने 40.76 एलएमटी की उपलब्धता सुनिश्चित की है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news