शामली में मिले 700 साल पुराने सोने - चांदी के सिक्के, जांच के  साथ अटकलें भी ज़ोरों पर
social media
ताज़ातरीन

शामली में मिले 700 साल पुराने सोने - चांदी के सिक्के, जांच के साथ अटकलें भी ज़ोरों पर

गांव खेड़ी खुशनाम में सोमवार को खेत में खोदाई के दौरान सोने-चांदी के सिक्के मिले थे। पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग मेरठ के अधीक्षक पुरातत्वविद डॉ. डीबी गणनायक ने गांव में मिले एक सिक्के की जांच करने के बाद बताया कि सिक्के करीब 700 साल पुराने हैं।

Yoyocial News

Yoyocial News

गांव खेड़ी खुशनाम में सोमवार को खेत में खोदाई के दौरान सोने-चांदी के सिक्के मिले थे। पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग मेरठ के अधीक्षक पुरातत्वविद डॉ. डीबी गणनायक ने गांव में मिले एक सिक्के की जांच करने के बाद बताया कि सिक्के करीब 700 साल पुराने हैं।

सोमवार को खोदाई के दौरान सोने-चांदी के सिक्के मिले थे। उन्होंने ग्रामीणों से बात की, लेकिन किसी ने भी टीम को सिक्के नहीं दिए। बाद में एक ग्रामीण इंसाद राणा ने एक सिक्का टीम को उपलब्ध कराया। इसके बाद टीम चौसाना पहुंची। सिक्के की जांच के बाद डॉ. डीबी गणनायक ने बताया कि सिक्का चांदी का है और मोहम्मद बिन तुगलक के काल का है।

पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग मेरठ के अधीक्षक पुरातत्वविद डॉ. डीबी गणनायक ने का मानना है कि गांव में मिले सिक्के 1320-1350 ईसवी के बीच के हैं और उस समय तुगलक वंश के शासक मोहम्मद बिन तुगलक का शासन था। उन्होंने बताया कि यह कोई पुरातत्व महत्व के स्थल नहीं है, लेकिन यहां कभी कोई गांव बसा होगा, जिस स्थान पर सिक्के मिलने की बात कही जा रही है, वह पेड़ की जड़ के पास है। संभव है कि किसी ने भविष्य के लिए यहां सिक्के रखे होंगे।

जांच के लिए पहुंची टीम को कुछ सिक्कों के फोटो और वीडियो भी मिले हैं। स्थानीय पुलिस को कहा गया है कि जिन ग्रामीणों के पास सिक्के हैं, उन्हें बरामद किया जाए। सिक्कों के फोटो और वीडियो पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के अधिकारी ले गए हैं।

जिस स्थान पर सिक्के निकले थे, पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने उस स्थान के आसपास का भी निरीक्षण किया। काटे गए पेड़ों की जड़ों को देखा। मिट्टी को कुरेदकर भी देखा गया, लेकिन मौके पर कोई सिक्का नहीं मिला।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news