PM Modi addresses nation on Corona crisis
PM Modi addresses nation on Corona crisis
ताजा तरीन

कोरोना को टक्कर: PM ने की इस रविवार जनता कर्फ्यू रखने की अपील, देश को आश्वस्त किया

पीएम ने कहा कि उन्होंने जब भी देश से कुछ मांगा है लोगों ने उन्हें निराश नहीं किया है. PM ने कहा कि वे आज सभी देशवासियों से कुछ मांगने आए हैं और यह है उनका सहयोग को कोरोना को टक्कर देने के लिए जरूरी है

Yoyocial News

Yoyocial News

कोरोना वायरस पर देश को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने जब भी देश से जो कुछ भी मांगा है लोगों ने उन्हें निराश नहीं किया है. पीएम ने कहा कि वे आज सभी देशवासियों से कुछ मांगने आएं हैं. पीएम ने अपनी मांग बताते हुए कहा कि मुझे आपका कुछ सप्ताह चाहिए, कुछ समय चाहिए.

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने इस रविवार 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करने की बात कही है.

खाने-पीने के सामान की किल्लत नहीं होने देंगे

देशवासियों को इस बात के लिए भी आश्वस्त करता हूं कि देश में दूध, खाने-पीने का सामान, दवाइयां, जीवन के लिए जरूरी ऐसी आवश्यक चीजों की कमी ना हो, इसके लिए तमाम कदम उठाए जा रहे हैं.

कोविड-19-Economic Response Task Force

कोरोना महामारी से उत्पन्न हो रही आर्थिक चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए, वित्त मंत्री के नेतृत्व में सरकार ने एक कोविड-19-Economic Response Task Force के गठन का फैसला लिया है. ये टास्क फोर्स, ये भी सुनिश्चित करेगी कि आर्थिक मुश्किलों को कम करने के लिए जितने भी कदम उठाए जाएं, उन पर प्रभावी रूप से अमल हो

रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल न जाएं

संकट के इस समय में आपको ये भी ध्यान रखना है कि हमारी आवश्यक सेवाओं पर,हमारे हॉस्पिटलों पर दबाव भी निरंतर बढ़ रहा है. इसलिए मेरा आपसे आग्रह ये भी है कि रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल जाने से जितना बच सकते हैं, उतना बचें: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस बार का संकट ऐसा है, कि इसने पूरी मानव जाति को संकट में डाल दिया है. पीएम ने कहा कि जब प्रथम विश्व युद्ध हुआ था, दूसरा विश्व युद्ध हुआ था तो भी इतने देश प्रभावित नहीं हुए थे, जितना इस बार कोरोना वायरस की वजह से हुए हैं. उन्होंने कहा कि भारत के 130 करोड़ों लोगों ने कोरोना वायरस का डटकर मुकाबला किया है. बीते कुछ दिनों से ऐसा लग रहा है कि जैसा कि हम बचे हुए हैं, ऐसा लगता है कि हम निश्चिंत हो गए हैं. लेकिन ऐसा सही नहीं है. पीएम ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर बेफिक्र हो जाना सही नहीं है.

देश ने हमेशा वो दिया,जो मैंने माँगा

पीएम ने कहा कि उन्होंने जब भी देश से जो कुछ भी मांगा है लोगों ने उन्हें निराश नहीं किया है. पीएम ने कहा कि वे आज सभी देशवासियों से कुछ मांगने आएं हैं. पीएम ने अपनी मांग बताते हुए कहा कि मुझे आपका कुछ सप्ताह चाहिए, कुछ समय चाहिए. उन्होंने कहा कि अभी तक कोराना वायरस का कोई इलाज नहीं मिल पाया है, न ही इसका वैक्सीन बन पाया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ देशों में शुरुआती कुछ दिनों के बाद अचानक बीमारी का जैसे विस्फोट हुआ है. इन देशों में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है.भारत सरकार इस स्थिति पर, कोरोना के फैलाव के इस ट्रैक रिकॉर्ड पर पूरी तरह नजर रखे हुए है.

संकल्प और संयम का संदेश दिया

पीएम ने कहा कि आज जब बड़े-बड़े और विकसित देशों में हम कोरोना महामारी का व्यापक प्रभाव देख रहे हैं. तो भारत पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, ये मानना गलत है. इसलिए इस वैश्विक महामारी का मुकाबला करने के दो मुख्य बातों की आवश्यकता है. पहला संकल्प और दूसरा संयम. आज 130 करोड़ देशवासियों को अपना संकल्प और दृढ़ करना होगा कि हम इस वैश्विक महामारी को रोकने के लिए एक नागरिक के नाते, अपने कर्तव्य का पालन करेंगे, केंद्र सरकार, राज्य सरकारों के दिशा निर्देशों का पालन करेंगे.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news