प्रियंका गाँधी
प्रियंका गाँधी
ताज़ातरीन

सियासत के जाम में फंसकर बॉर्डर से खाली लौटीं ‘कांग्रेसी’ बसें, प्रियंका ने जारी किया video...

प्रियंका ने ट्विटर के जरिए वीडियो संवाद करते हुए कहा, 'श्रमिक भाई - बहनों के लिए ये संकट का समय है. इस समय संवेदना साथ उनकी मदद करना ही हम सबका उद्देश्य है.'

Yoyocial News

Yoyocial News

प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने को लेकर कांग्रेस और यूपी की योगी सरकार के बीच फंसा पेंच बुधवार को भी जारी रहा. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को यूपी सरकार से साफ कहा कि हमारी बसें यूपी के बॉर्डर पर खड़ी है. आप इसे राजनीतिक दांवपेंच में उलझाकर लोगों की मदद में बाधा ना पहुंचाए. प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार से कहा कि वह शाम 4 बजे तक यदि बसों को अंदर नहीं बुलाते हैं तो हम इन बसों को वापस बुलवा लेंगे.

कांग्रेस नेता ने कहा, 'हमारी पेशकश के पीछे सेवा का भाव है. 500 बसें हमने गाजियाबाद बॉर्डर पर खड़ी की थीं. कल हमने 900 बसें, 500 राजस्थान-यूपी बॉर्डर पर और बाकी बसें गाजियाबाद-दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर खड़ी की थीं. हम बसों की नई सूची देने को तैयार है.'

प्रियंका ने ट्विटर के जरिए वीडियो संवाद करते हुए कहा, 'श्रमिक भाई - बहनों के लिए ये संकट का समय है. इस समय संवेदना साथ उनकी मदद करना ही हम सबका उद्देश्य है.'

उन्होंने कहा, 'कल अगर ये बसें चली होती हो आज हजारों मजदूर अपने घरों पर पहुंच जाते. हमारी बसों को जाने का परमिट नहीं दिया. कल भी बसें खड़ी रही आज भी खड़ी रही. आप हमें बसे इस्तेमाल करने की अनुमित दें. आपको अगर ये कहना है, ये आपने उपलब्ध करवाई है. तो कहिए लेकिन इन्हें चलने दीजिए. अब तक हम कम से कम 92 हजार लोगों को घर पहुंचा सकते थे.

मैं यूपी के सीएम से सिर्फ यह कहना चाहती हूं कि आप हमें अनुमति दीजिए हम लोगों के घर तक पहुंचाएंगे. आपको अनुमति नहीं देनी है तो मत दीजिए हमारी बसें वापस चली जाएंगी जैसे कल गई थी.'

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा इस मामले को राजनीतिक रंग देने से बचने की बात कहते हुए यूपी सरकार से कहा, 'आप इन बसों पर अपने झंडे लगाना चाहते हैं तो लगाईये लेकिन लोगों को परेशानी नहीं होनी चाहिए. आपने बिना वजह इसे राजनीतिक रस्साकशी में उलझा रखा है. सियासत के बीच ये बसें फंस गई है, लोग अभी भी पैदल सड़क पर चलने को मजबूर हैं.'

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news