यूपी में कोरोना मामलों में भारी तेजी, बाराबंकी में एक दिन में 95 पॉजिटिव केस मिले
ताज़ातरीन

यूपी में कोरोना मामलों में भारी तेजी, बाराबंकी में एक दिन में 95 पॉजिटिव केस मिले

बाराबंकी में हाल के दिनों में ट्रेनों और बसों के जरिए राज्य की राजधानी पहुंचने वाले प्रवासी कामगारों की अधिकतम आमद देखी गई है। इस जिले में 22 प्रतिशत अल्पसंख्यक आबादी है और इसका बड़ा हिस्सा महाराष्ट्र में काम करता है।

Yoyocial News

Yoyocial News

उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या में अचानक उछाल आया है। राज्य में लॉकडाउन नियमों में ढील देने के बाद ये उछाल आया है। बाराबंकी जिले में बुधवार रात को 95 पॉजिटिव मामलों की सूचना मिली थी। इनमें से 49 मामले प्रवासी श्रमिकों के हैं, जबकि शेष 46 संक्रमित लोग वे थे जो छह कोरोना पॉजिटिव रोगियों के संपर्क में आए थे।

जिले में कोरोना की कुल संख्या 122 पर पहुंच गई है। लखनऊ से लगभग 22 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बाराबंकी में हाल के दिनों में ट्रेनों और बसों के जरिए राज्य की राजधानी पहुंचने वाले प्रवासी कामगारों की अधिकतम आमद देखी गई है। इस जिले में 22 प्रतिशत अल्पसंख्यक आबादी है और इसका बड़ा हिस्सा महाराष्ट्र में काम करता है।

महमूद हसन के दो बेटे और तीन भतीजे फिल्म उद्योग में लाइट मैन के रूप में काम करते हैं। उन्होंने कहा 'यहां के ज्यादातर लोग मुंबई में फिल्म क्रू के रूप में काम करते हैं। उनमें से कुछ टेक्निकल स्टाफ में हैं और जब एक व्यक्ति स्थापित हो जाता है तो परिवार के अन्य लोग भी उसमें शामिल हो जाते हैं।'

बाराबंकी के जिला मजिस्ट्रेट आदर्श सिंह ने कहा 'जो सभी लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं वे पहले से ही संस्थागत संगरोध में थे। संक्रमितों में से नौ जिले के बाहर से आए हैं और उन्हें अस्पताल में स्थानांतरित किया जा रहा है। हालांकि, घबराने की कोई जरूरत नहीं है। इसमें मामलों की संख्या महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि यह महत्वपूर्ण है कि हमने मामलों की पहचान की है। समय पर संक्रमण फैलाने से उन्हें रोका। हमारे पास जिले में अब 122 सक्रिय मामले हैं।'

बस्ती ने मंगलवार को 50 मामले दर्ज किए गए थे और वे सभी प्रवासी श्रमिक थे। उनमें से अधिकांश में कोई लक्षण नहीं थे। जिला मजिस्ट्रेट बस्ती, आशुतोष निरंजन ने बताया 'इन 50 नए मामलों में से 14 लोग बस्ती के हैं और 36 लोग यूपी के अन्य जिलों के हैं। वे पहले से ही संगरोध में थे और हमने उन्हें कोविड अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया है।'

रामपुर में कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या भी 68 तक पहुंच गई है और कानपुर में यह संख्या 317 है। इससे पहले, लखीमपुर में नौ लोगों में इस घातक वायरस का संक्रमण पाया गया था और वे सभी प्रवासी श्रमिक थे।

लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि आने वाले दिनों में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या में 'नाटकीय रूप से वृद्धि' हो सकती है।

उन्होंने कहा 'हजारों प्रवासी श्रमिक जो पैदल चल रहे हैं, मेडिकल स्क्रीनिंग से बच गए हैं। वे निराधार आशंकाओं के कारण खुद को क्वारंटीन नहीं कर रहे हैं। यदि वे कोरोना वाहक हैं तो आने वाले दो सप्ताह में ही कोरोना मामलों में उछाल ला सकता है।'

कोरोना पॉजिटिव मामलों की राज्य की स्थिति बुधवार को 5,265 पर पहुंच गई है और यहां अब तक 127 लोगों की मौत हो चुकी है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news