DCGI ने भारत बायोटेक के Covaxin को दी आपातकालीन मंजूरी; 12-18 आयु वर्ग के बच्चों को लगाया जा सकेगा टीका

इस वैक्सीन का इस्तेमाल 12 साल से ऊपर के लोगों के लिए किया जाना है। हालांकि, देश में अभी 18 या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को ही कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है।
DCGI ने भारत बायोटेक के Covaxin को दी आपातकालीन मंजूरी; 12-18 आयु वर्ग के बच्चों को लगाया जा सकेगा टीका

देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की दहशत के बीच बड़ी खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि देश में 12 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन को हरी झंडी दे दी गई है। भारत बायोटेक की कोवाक्सिन को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने आपात इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है। इससे पहले जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन को भी इस आयु-वर्ग के लिए मंजूरी मिली थी। इस वैक्सीन का इस्तेमाल 12 साल से ऊपर के लोगों के लिए किया जाना है। हालांकि, देश में अभी 18 या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को ही कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है। 

जायकोव-डी के बाद दूसरी वैक्सीन

कोवाक्सिन ऐसी दूसरी वैक्सीन है, जिसका इस्तेमाल देश में 12 से 18 साल के बच्चों के लिए किया जा सकता है। इससे पहले जायकोव-डी पहला ऐसा टीका था, जिसे भारत के औषधि नियामक की ओर से 12 वर्ष और इससे अधिक आयु के लोगों के लिए अनुमति दी गई थी। हालांकि, केंद्र सरकार ने फिलहाल टीके की खुराक केवल वयस्कों को ही देने का फैसला किया था।

एसईसी ने अक्तूबर में की थी सिफारिश

सूत्रों के मुताबिक, सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (एसईसी) ने अक्तूबर में डीसीजीआई से बच्चों के लिए कोवाक्सिन के आपात इस्तेमाल की सिफारिश की थी। फिलहाल दुनिया के कई देशों में बच्चों को कोरोना की वैक्सीन दी जा रही है। वहीं, फाइजर बायोटेक ने 5 साल से ऊपर बच्चों के लिए वैक्सीन बनानी शुरू भी कर दी है। इस वैक्सीन का इस्तेमाल अमेरिका और यूरोप में किया भी जा रहा है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news