बांग्लादेश: मस्जिद में इकट्ठे 6 AC फटने से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 21, जांच के लिए 5 सदस्यीय समिति गठित
ताज़ातरीन

बांग्लादेश: मस्जिद में इकट्ठे 6 AC फटने से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 21, जांच के लिए 5 सदस्यीय समिति गठित

डॉक्टरों का कहना है कि 27 पीड़ितों की हालत गंभीर हैं। पीड़ितों में मस्जिद के 'इमाम' सहित अन्य लोग गंभीर रूप से 99 प्रतिशत जल गए है। रिसाव हो रहे गैस पाइप लाइन को ठीक करने के लिए अग्निशमन अधिकारी और गैस कर्मी साइट पर पहुंचे।

Yoyocial News

Yoyocial News

बांग्लादेश के फतुल्लाह शहर की एक मस्जिद में नमाज के बाद 6 एयर कंडीशनर के फटने से 21 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब 50 लोग घायल हो गए। यह जानकारी शेख हसीना नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी के रेजिडेंट मेडिकल ऑफिसर डॉ. पार्थ शंकर पाल ने दी।

स्थानीय लोगों के अनुसार, यह विस्फोट रात करीब 08:45 बजे के आसपास फतुल्लाह में बैतुस सलाम मस्जिद में शुक्रवार को नमाजियों के नमाज खत्म करने के बाद हुआ। सूत्रों ने कहा कि पहले एक एसी में स्पार्किंग की वजह से विस्फोट हुआ, जिसके बाद मस्जिद की अन्य एयर कंडीशनरों में भी विस्फोट हो गया।

डॉक्टरों का कहना है कि 27 पीड़ितों की हालत गंभीर हैं। पीड़ितों में मस्जिद के 'इमाम' सहित अन्य लोग गंभीर रूप से 99 प्रतिशत जल गए है। रिसाव हो रहे गैस पाइप लाइन को ठीक करने के लिए अग्निशमन अधिकारी और गैस कर्मी साइट पर पहुंचे। गौरतलब है कि पाइपलाइन से गैस का रिसाव होने के कारण हादसा हुआ।

मस्जिद समिति के अध्यक्ष व सदस्य अब्दुल गफूर ने टाइटस गैस ट्रांसमिशन एंड डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (टीजीटीडीसीएल) के स्थानीय कर्मचारियों पर मस्जिद भवन के नीचे हो रहे गैस रिसाव को ठीक करने के लिए 50,000 टाका रिश्वत की मांग करने का आरोप लगाया।

बांग्लादेश के बिजली, ऊर्जा और खनिज संसाधन राज्य मंत्री नसरुल हामिद ने कहा 'नारायणगंज मस्जिद विस्फोट के सिलसिले में टाइटस गैस ट्रांसमिशन एंड डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी (टीजीटीडीसीएल) की लापरवाही पाए जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।' विस्फोट की जांच के लिए 5 सदस्यीय जांच समिति बनाई गई है।

स्थानीय लोगों ने कहा कि मस्जिद के नीचे से एक गैस पाइपलाइन गुजरती है। मस्जिद प्रबंध समिति ने हाल ही में पाइपलाइन के रिसाव की शिकायत दर्ज की थी। लेकिन अधिकारियों ने स्पष्ट रूप से इसे नजरअंदाज कर दिया। आरोप है कि गैस पाइप लाइन से लीक होने के बाद खिड़कियों के बंद होते ही अंदर जमा हो गई थी।

फायर सर्विस के अधिकारियों ने कहा कि संभवत: स्पार्किंग के कारण विस्फोट हुआ होगा। उन्हें संदेह है कि पाइपलाइन में लीकेज से जमा हुई गैस में आग लग गई, जिससे विस्फोट हुआ होगा। पीएम शेख हसीना ने घायलों को उपचार देने का निर्देश दिया है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news