Air Pollution: Delhi-NCR में वायु प्रदूषण का कहर जारी, फरीदाबाद में AQI लेवल 'गंभीर' श्रेणी में

वहीं, सुबह करीब 11 बजे दिल्‍ली के जहांगीरपुरी, झिलमिल और बवाना में एक्‍यूआई का स्‍तर 758, 748 और 687 रिकार्ड किया गया है।
Air Pollution: Delhi-NCR में वायु प्रदूषण का कहर जारी, फरीदाबाद में AQI लेवल 'गंभीर' श्रेणी में

दिल्‍ली और इसके आस-पास सटे इलाकों की एयर क्‍वालिटी गुरुवार को भी दिन चढ़ने के साथ खराब होती जा रही है। aqicn.org के आंकड़ों के मुताबिक हरियाणा के फरीदाबाद में हवा में प्रदूषण का स्‍तर गंभीर रिकार्ड किया गया है। यहां के विभिन्‍न सेक्‍टर में एक्‍यूआई का स्‍तर 999 रहा है। वहीं, सुबह करीब 11 बजे दिल्‍ली के जहांगीरपुरी, झिलमिल और बवाना में एक्‍यूआई का स्‍तर 758, 748 और 687 रिकार्ड किया गया है।

aqicn.org के आंकड़ों की बात करें तो सुबह 9 बजे हरियाणा के फरीदाबाद में एक्‍यूआई का स्‍तर 999 रिकार्ड किया गया है जो गंभीर श्रेणी में आता है। गुरुग्राम में 352, हिसार में 466, रोहतक 345, जिंद में 316 रिकार्ड किया गया है।

दिल्‍ली की बात करें तो यहां पर गुरुवार की सुबह एयर क्‍वालिटी का स्‍तर बेहद खराब से गंभीर श्रेणी में रिकार्ड किया गया है। राजधानी के विभिन्‍न इलाकों की बात करें तो आनंद विहार पर 466, सोनिया विहार में 412, जहांगीरपुर में 523, झिलमिल में 538, आरकेपुरम में 444, मेजर ध्‍यान चंद नेशनल स्‍टेडियम पर 727, रोहिणी में 574, बवाना में 494, आनंद विहार में 396, नरेला में 475 रिकार्ड किया गया है।

उत्‍तर प्रदेश के ग्रेटर नोयडा में एक्‍यूआई का स्‍तर 514, बुलंदशहर में 383, हापुड़ में 423, मुरादाबाद में 581, गाजियाबाद के संजय नगर में 310, इंद्रापुरम में 414, लोनी में 459, नोयडा के सेक्‍टर 116 में 499, सेक्‍टर 62 पर 572, मेरठ में 388 रिकार्ड किया गया है।

इससे पहले सुबह करीब 9 बजे सफर इंडिया ने दिल्‍ली की एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स को 339 पर बताया था जो बेहद खराब है। दिल्‍ली के अक्षरधाम मंदिर और सराय काले खां इलाके में सुबह सड़क पर वाहनों की कम रफ्तार देखी गई है। इसकी वजह स्‍माग रहा है। इसके चलते अधिक दूर तक साफ देखना संभव नहीं हो रहा था, जिसके चलते वाहनों की रफ्तार कम रही।

सफर इंडिया की हैल्‍थ एडवाइजरी में उन लोगों को चेतावनी दी गई है जो फैंफड़ों की बीमारी से ग्रस्‍त हैं। इसके अलावा बुजुर्ग और बच्‍चों और ऐसे लोग जो लंबी बीमारी से पीडि़त हैं उनको भी संभलकर रहने की सलाह दी गई है। गौरतलब है कि इस तरह की प्रदूषण से भरी हवा में अधिक देर तक सांस लेने से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी तक जन्‍म ले सकती हैं।

बता दें कि वायु प्रदूषण को लेकर छह अलग-अलग कैटेगिरी बनी हुई हैं। इसके मुताबिक अच्‍छा में 0-50, संतोषजनक में 50-100, माड्रेट में 100-200, खराब में 200-300, बेहद खराब में 300-400 और गंभीर में 400 से ऊपर का एक्‍यूआई स्‍तर शामिल है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.