Weather Update: दिल्ली में आज सीजन की सबसे ठंडी सुबह, राजस्‍थान के चूरू में माइनस में पहुंचा पारा

दिल्ली में शनिवार की सुबह इस सीजन की सबसे ठंडी सुबह के रूप में दर्ज की गई है। आज राजधानी का न्यूनतम तापमान 6.0 डिग्री दर्ज किया गया जो इस सीजन का सबसे कम तापमान है। इससे पहले बीते रविवार को न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।
Weather Update: दिल्ली में आज सीजन की सबसे ठंडी सुबह, राजस्‍थान के चूरू में माइनस में पहुंचा पारा

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में इन दिनों सर्दी का कहर जारी है। एक ओर जहां पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी व बारिश जारी है, वहीं मैदानी क्षेत्रों में भी कोहरे और शीतलहर शुरू हो गई है। उत्तर भारत के कई शहरों में शनिवार(18 दिसंबर) को तापमान में रिकॉर्ड कमी दर्ज की गई है। आज सुबह मैदानी क्षेत्रों में चूरू का तापमान सबसे कम रहा जो माइनस में पहुंच गया वहीं अमृतसर में 0.7 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है।

दिल्ली में शनिवार की सुबह इस सीजन की सबसे ठंडी सुबह के रूप में दर्ज की गई है। आज राजधानी का न्यूनतम तापमान 6.0 डिग्री दर्ज किया गया जो इस सीजन का सबसे कम तापमान है। इससे पहले बीते रविवार को न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

उत्तर भारत के विभिन्न शहरों में आज सुबह 8.30 बजे मापा गया तापमान निम्न है-

दिल्ली: 6.0

चूरू:  -1.1

अमृतसर:  0.7

गंगानगर: 1.1

नारनौल: 3.0

हिसार:  4.0

हरियाणा में शुक्रवार को सबसे ठंडा रहा नारनौल

हाड़ कंपकंपाने वाली सर्दी की शुरुआत हो गई है। शुक्रवार को नारनौल हरियाणा में सबसे ठंडा रहा। क्षेत्र का न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि अधिकतम तापमान 18.4 डिग्री सेल्सियस रहा। इस प्रकार न्यूनतम तापमान में वीरवार के मुकाबले 3.2 डिग्री तथा अधिकतम तापमान में 0.8 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई। मौसम विभाग के अनुसार 3-4 दिनों में तापमान में और गिरावट आने की संभावना है। 

शुक्रवार को मैदानी राज्यों में सबसे ठंडा रहा फतेहपुर सीकर

राजकीय महाविद्यालय नारनौल के पर्यावरण क्लब के नोडल अधिकारी डॉ. चंद्रमोहन ने बताया कि पहाड़ी इलाकों पर बने वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के आगे निकलने से मैदानी इलाकों में कई जगह न्यूनतम तापमान में काफी गिरावट आई है। शुक्रवार को उत्तरी मैदानी राज्यों में राजस्थान में सबसे कम न्यूनतम तापमान फतेहपुर सीकर का -1.6 डिग्री सेल्सियस, चूरू का 0 डिग्री सेल्सियस तथा पिलानी व झुंझुनू का न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस रहा। 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में शीत लहर की चेतावनी

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रहने वाले तैयार हो जाएं, जल्द ही शीत लहर चलने के आसार मौसम विभाग ने जताए हैं। हल्का कोहरा भी राज्य के कुछ इलाकों में सुबह के समय बने रहने के आसार हैं। प्रदेश के कई इलाकों में पारे में लगातार उतार चढ़ाव बना हुआ है। अलीगढ़, मेरठ, बरेली, फतेहगढ़, वाराणसी, इटावा में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम दर्ज हुआ। फतेहगढ़ 5.2 डिग्री न्यूनतम तापमान के साथ सबसे ठंडा रहा, जबकि मेरठ में तापमान 5.8 रहा, जो सामान्य से 2.1 डिग्री कम रहा।

मौसम विभाग का कहना है कि दिन का अधिकतम तापमान 25 डिग्री से कम रहने पर ही ठंड का अहसास होता है। उस लिहाज से ज्यादातर इलाकों में दिन का पारा 18 डिग्री से लेकर 24.5 डिग्री तक रहा। चुर्क, वाराणसी, प्रयागराज, बस्ती, शाहजहांपुर में तापमान 25 से 28 डिग्री के बीच रहा।

मनाली, भरमौर में सीजन की पहली बर्फबारी, शिमला में शीतलहर

हिमाचल प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होते ही शुक्रवार को मनाली शहर और भरमौर मुख्यालय में सीजन की पहली बर्फबारी हुई। राजधानी शिमला पूरी तरह से शीतलहर की चपेट में आ गया है। शुक्रवार तड़के संजौली और नारकंडा में बर्फ के फाहे गिरे। पर्यटन स्थल कुफरी फिर सफेद हो गया। डलहौजी के लक्कड़ मंडी, डायनकुंड, कोठी और रोहतांग भी बर्फ से लकदक हो गए हैं। मैदानी जिलों में धुंध पड़ने से वाहनों की आवाजाही सुबह और शाम के समय प्रभावित हो रही है। न्यूनतम तापमान गिरने से सड़कों पर पानी जमने लगा है। शुक्रवार को केलांग में अधिकतम तापमान भी माइनस में पहुंच गया है। शुक्रवार को केलांग में अधिकतम तापमान माइनस 4.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने शनिवार को मौसम साफ रहने की संभावना जताई है। 21 दिसंबर तक प्रदेश के सभी क्षेत्रों में धूप खिली रहने का पूर्वानुमान है।

कोहरे के बीच चार डिग्री जम्मू का पारा, कंपकंपा देने वाली ठंड

जम्मू-कश्मीर में शरीर कंपकंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। शुक्रवार को कोहरे के साथ जम्मू जिले में ही न्यूनतम पारा 4.0 डिग्री पहुंच गया। इससे एयरपोर्ट पर सुबह पहुंचने वाली छह उड़ानें निर्धारित समय से देरी से पहुंचीं। प्रदेश के लगभग सभी जिलों में पारा सामान्य से छह डिग्री नीचे गिर गया है। पर्वतीय क्षेत्रों के साथ मैदानी इलाकों में सर्द हवाओं से जनजीवन प्रभावित है। लेह और कारगिल में दिन और रात का तापमान शून्य से नीचे चल रहा है। बारिश न होने से सेहत भी गड़बड़ा रही है। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के अनुसार आगामी दिनों में प्रदेश में मौसम साफ रहेगा, लेकिन सर्दी से राहत मिलने वाली नहीं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news