दिल्ली विश्वविद्यालय को 3 मई तक बंद रखने का फैसला

दिल्ली विश्वविद्यालय को 3 मई तक बंद रखने का फैसला

कोरोना की तेजी से तेजी से फैलते हुए संक्रमण को देखते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय को 3 मई तक बंद रखने का फैसला किया गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक निर्देश जारी कर कहा है

कोरोना की तेजी से तेजी से फैलते हुए संक्रमण को देखते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय को 3 मई तक बंद रखने का फैसला किया गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक निर्देश जारी कर कहा है कि दिल्ली विश्वविद्यालय अब 3 मई तक दिल्ली विश्वविद्यालय अब 3 मई तक बंद रहेगा। इस दौरान विश्वविद्यालय में होने वाली वाली वाली सभी शैक्षणिक गतिविधियां स्थगित कर दी गई हैं। हालांकि कार्यालय खुले रहेंगे। दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा जारी किए गए ताजा निर्देशों में कहा गया है कि विश्वविद्यालय से संबंधित पूर्व निर्धारित बैठकें होंगी। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने डीडीएमए के निर्देशों को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया है। 3 मई के बाद कोरोना की स्थिति का आकलन किया जाएगा, जिसके बाद ही विश्वविद्यालय को दोबारा खोलने का निर्णय होगा। अब फिलहाल दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में 3 मई तक किसी तरह का सार्वजनिक कार्य नहीं होगा।

यह निर्देश दिल्ली विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार विकास गुप्ता द्वारा जारी किया गया है। अपने निर्देश में रजिस्ट्रार विकास गुप्ता ने कहा कि दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट कमिटी यानी डीडीएमए के निर्देश को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है। विकास गुप्ता ने कहा कि इस दौरान विश्वविद्यालय में कार्यालय खुले रहेंगे। सेलेक्शन कमेटी की बैठकें भी पूर्व निर्धारित होंगी। पूर्व की भांति ऑनलाइन कक्षाएं चलेंगी।

कर्मचारियों को पूर्व निर्धारित व्यवस्था, जिसमें घर से भी काम करना शामिल है, उसके अनुसार कार्य करने को कहा गया है। इसके अलावा आवश्कता पड़ने पर विश्वविद्यालय भी बुलाया जा सकता है। डीयू ने अपने सभी कर्मचारियों को केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशों का पालन करने को कहा है।

दिल्ली विश्वविद्यालय व संबंधित कॉलेजों के में सैकड़ों शिक्षक कोरोना संक्रमित हो गए हैं। शिक्षक संगठनों के मुताबिक, दिल्ली विश्वविद्यालय के लगभग 500 शिक्षक कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। शिक्षक संगठनों ने प्रशासन से 100 बिस्तर वाले अस्पताल की मांग की है। साथ ही कोरोना के कारण जान गंवाने वाले वाले शिक्षकों के लिए 2.5 करोड़ रुपये का मुआवजा घोषित करने की अपील की गई है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news