24 घंटे में आ रही है दिल्ली विश्वविद्यालय की पहली कटऑफ लिस्ट

दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए अगले 24 घंटे में पहली कटऑफ जारी की जाएगी। दिल्ली विश्वविद्यालय के मुताबिक शुक्रवार 1 अक्टूबर को पहली कट ऑफ जारी की जाएगी।
24 घंटे में आ रही है दिल्ली विश्वविद्यालय की पहली कटऑफ लिस्ट

दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए अगले 24 घंटे में पहली कटऑफ जारी की जाएगी। दिल्ली विश्वविद्यालय के मुताबिक शुक्रवार 1 अक्टूबर को पहली कट ऑफ जारी की जाएगी। 1 अक्टूबर को पहली कट ऑफ लिस्ट जारी करने के अगली प्रक्रिया 4 अक्टूबर से शुरू होगी। दिल्ली विश्वविद्यालय यह प्रक्रिया 15 नवंबर तक चलेगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय में दूसरी कटऑफ लिस्ट 9 अक्टूबर को और तीसरी कटऑफ 16 अक्टूबर को जारी की जाएगी। इसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय की स्पेशल कटऑफ 25 अक्टूबर को आएगी। दिल्ली विश्वविद्यालय चौथी कटऑफ 30 अक्टूबर को और फिर पांचवीं कटऑफ 8 नवंबर को जारी की जाएगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति पीसी जोशी के मुताबिक इस वर्ष आवश्यकता पड़ने पर दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में सीटें बढ़ाई जा सकती हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में इस बार स्पेशल कटऑफ भी जारी की जाएगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय में ग्रेजुएशन कोर्सेस की लगभग 70 हजार सीटों के लिए दाखिला प्रक्रिया शुरू की जा रही है। यह प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन है।

विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक कट-ऑफ लिस्ट दिल्ली विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट पर भी जारी की जाएगी। ग्रेजुएशन के प्रथम वर्ष दाखिल की प्रक्रिया जहां 1 अक्टूबर से शुरू हो रही है वहीं यह प्रक्रिया 15 नवंबर तक चलेगी।

वहीं केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने केंद्रीय विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर नियुक्ति के लिए केंद्र ने पीएचडी की अनिवार्यता खत्म कर दी है।

शिक्षा मंत्री द्वारा लिए गए इस निर्णय के बाद अब बिना पीएचडी की डिग्री वाले अभ्यर्थी भी इन पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे। पीएचडी की अनिवार्यता खत्म होने से उमीदवारों को इससे राहत मिली है ,देशभर के एडहॉक व कंट्रेक्च ुअल शिक्षकों में खुशी का माहौल है।

बीते दिनों दिल्ली विश्वविद्यालय से सम्बद्व विभिन्न विभागों में होने वाली सहायक प्रोफेसर की नियुक्तियों के लिए विज्ञापन जारी किया गया था। इन नियुक्तियों के लिए पीएचडी की योग्यता अनिवार्य तौर पर मांगी गई थी।

गौरतलब है कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के पदों को भरने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। ज्यादातर विश्वविद्यालयों में खाली पदों को भरने के लिए वैकेंसी निकाल दी गई हैं, उनके विज्ञापन बैकलॉग सहित आ रहे हैं, लेकिन डीयू ने अभी तक विभागों के पदों पर बैकलॉग नहीं निकाला। डॉ. सुमन के अनुसार मौजूदा समय में देश भर के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के करीब 6,359 पद खाली हैं

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.