देश में लोकतांत्रिक और गांधीवादी मूल्य दांव पर हैं: कपिल सिब्बल

देश में लोकतांत्रिक और गांधीवादी मूल्य दांव पर हैं: कपिल सिब्बल

सिब्बल ने कहा, मोदी के युग में भारत को समझने के लिए, हमें बहुरूपदर्शक को देखने की जरूरत है। आप इसे एक सांचे में फिट नहीं कर सकते। आप केवल शिक्षा नीति को ही ले लीजिए।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं वकील कपिल सिब्बल ने अहमदाबाद में गांधी जयंती के अवसर पर कहा कि देश में लोकतांत्रिक और गांधीवादी मूल्य दांव पर हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली वर्तमान सरकार लोकतांत्रिक नियमों के अनुसार नहीं चल रही है। शनिवार को मोदी के युग में भारत विषय पर गिरीश पटेल स्मृति व्याख्यान देते हुए सिब्बल ने कहा, वह (मोदी) खेल के नियमों से नहीं खेलते हैं। .और आपके बच्चों को इसका नुकसान होगा। यदि आपकी जेब में ही अंपायर है, तो आप भला क्रिकेट कैसे खेलेंगे? सभी लोकतांत्रिक संस्थान सरकार द्वारा नियंत्रित किए गए हैं।

सिब्बल ने कहा, मोदी के युग में भारत को समझने के लिए, हमें बहुरूपदर्शक को देखने की जरूरत है। आप इसे एक सांचे में फिट नहीं कर सकते। आप केवल शिक्षा नीति को ही ले लीजिए। अगर आप अरुणाचल प्रदेश और महाराष्ट्र में जाते हैं, तो आपको शिक्षा के लिए अलग-अलग नीतियां मिलेंगी। आप पूरे देश में एक भी नीति लागू नहीं कर सकते।

कांग्रेस नेता ने कहा कि वर्तमान मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई शिक्षा नीति भी नई नहीं है।

उन्होंने कहा, यह वास्तव में मेरा मसौदा दस्तावेज है, जिसे उन्होंने खारिज कर दिया था और अब वे अपनी नीति भी इसी के समान ही लेकर आए हैं।

सिब्बल ने कहा, हमारे जैसे लोकतांत्रिक देश में, आपको अलग-अलग ²ष्टिकोणों को समझना होगा। मोदी के युग में समस्या यह है कि वे दूसरों के विचारों को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं।

Note: Yoyocial.News लेकर आया है एक खास ऑफर जिसमें आप अपने किसी भी Product का कवरेज करा सकते हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.