वायु प्रदूषण को देखते हुए राज्य सरकार ने लखनऊ व वाराणसी सहित 13 जिलों में आतिशबाजी पर लगायी रोक
ताज़ातरीन

वायु प्रदूषण को देखते हुए राज्य सरकार ने लखनऊ व वाराणसी सहित 13 जिलों में आतिशबाजी पर लगायी रोक

उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे स्मॉग और वायु प्रदूषण को देखते हुए राज्य सरकार ने लखनऊ व वाराणसी सहित 13 जिलों में आतिशबाजी पर रोक लगा दी है। लखनऊ के साथ ही 13 जिलों में वायु प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक है।

Yoyocial News

Yoyocial News

उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे स्मॉग और वायु प्रदूषण को देखते हुए राज्य सरकार ने लखनऊ व वाराणसी सहित 13 जिलों में आतिशबाजी Fire Crackers पर रोक लगा दी है। लखनऊ के साथ ही 13 जिलों में वायु प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक है। Air Pollution

अपर मुख्य सचिवए गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इस संबंध में प्रदेश के सभी मण्डलायुक्त, पुलिस आयुक्त लखनऊ एवं गौतमबुद्धनगर, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस उप महानिरीक्षक परिक्षेत्र, जिला मजिस्ट्रेट, जनपदीय पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व पुलिस अधीक्षक को आवश्यक निर्देश जारी करते हुये एनजीटी कोर्ट नई दिल्ली के आदेश का अनुपालन किये जाने के निर्देश दिये हैं।

शासनादेश के अनुसार, न्यायालय द्वारा प्रदेश के जिन जनपदों के एयर क्वालिटी इन्डेक्स ( AQI ) का उल्लेख किया गया है, उनमें क्रमश: मुजफ्फरनगर को 'खराब', आगरा, वाराणसी, मेरठ व हापुड़ को 'बहुत खराब' तथा गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा व ग्रेटर नोएडा, बागपत तथा बुलन्दशहर को 'गंभीर' severe बताया है।

इन स्थानों पर एनजीटी NGT के आदेश का पालन करते हुये इन जनपदों में दीपावली को मनाने के लिए डिजिटल लेजर आदि की नई तकनीक का प्रयोग करने के निर्देश दिए गए हैं।

शासन के जारी निदेशरें में यह भी कहा गया है कि जिन जनपदों में एक्यूआई मॉडरेट या उससे बेहतर है, वहां केवल ग्रीन पटाखे ही बेचे जाएं। इन जनपदों में दीपावली Deewali को मनाने के लिए ग्रीन पटाखे व डिजिटल लेजर आदि की नई तकनीकी के प्रयोग को आम जन में प्रोत्साहित किया जाए।

An AQI between zero and 50 is considered "good", 51 and 100 "satisfactory", 101 and 200 "moderate", 201 and 300 "poor", 301 and 400 "very poor", and 401 and 500 "severe"

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news