मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ED ने सचिन जोशी को किया गिरफ्तार

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ED ने सचिन जोशी को किया गिरफ्तार

इससे पहले 27 जनवरी को ईडी ने धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) के तहत ओंकार ग्रुप के चेयरमैन कमल गुप्ता और प्रबंध निदेशक बाबू लाल वर्मा को गिरफ्तार किया था।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुटखा व्यापारी जगदीश जोशी के बेटे सचिन जोशी को मनी लॉन्ड्रिंग के सिलसिले में कई घंटों तक पूछताछ करने के बाद गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी रविवार रात को की गई।

जांच से जुड़े ईडी अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया कि सात घंटे की पूछताछ के बाद जोशी को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने कहा कि उन्हें यहां स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा।

अधिकारी ने कहा कि उन्हें ओंकार समूह से जुड़े एक मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है।

उनकी गिरफ्तारी आयकर विभाग द्वारा उनके आवासीय और कार्यालय परिसर में तलाशी लेने के बाद हुई है।

इससे पहले 27 जनवरी को ईडी ने धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) के तहत ओंकार ग्रुप के चेयरमैन कमल गुप्ता और प्रबंध निदेशक बाबू लाल वर्मा को गिरफ्तार किया था।

ईडी ने आरोप लगाया कि ओंकार रियल्टी ने यस बैंक से झुग्गी पुनर्वास परियोजनाओं के लिए 410 करोड़ रुपये का ऋण लिया, लेकिन पैसे को कहीं और भेज दिया।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news