UP: करोड़पति नाबालिग छात्र को प्रेमजाल में फंसाया, फिर उसकी जन्मतिथि बदलकर विवाह रचाया, शातिर युवती गिरफ्तार
ताज़ातरीन

UP: करोड़पति नाबालिग छात्र को प्रेमजाल में फंसाया, फिर उसकी जन्मतिथि बदलकर विवाह रचाया, शातिर युवती गिरफ्तार

अर्शी ने उनके बेटे की फेसबुक प्रोफाइल भी खंगाली थी। उसे पता चला कि वह करोड़पति है तो दोस्ती करने के बहाने प्रेमजाल में फंसा लिया।

Yoyocial News

Yoyocial News

यूपी की राजधानी लखनऊ से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक युवती ने इंटर में पढ़ने वाले रीयल एस्टेट कारोबारी के नाबालिग बेटे की करोड़ों की संपत्ति पाने के लिए उसे प्रेमजाल में फंसाया और उसकी जन्मतिथि बदलकर शादी कर ली। वहीं, आरोपी अर्शी चौधरी नाम की शातिर युवती को अलीगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

रीयल एस्टेट कारोबारी का आरोप है कि उसने मेरे बेटे जरिये हमारी सारी संपत्ति हड़पने के लिए ऐसा काम किया है। इस मामले में उन्होंने बीते महीने अलीगंज थाने में अर्शी समेत 6 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

इंस्पेक्टर फरीद अहमद ने बताया कि अर्शी चौधरी मूलरूप से सीतापुर कोतवाली के मुहल्ला कोट कजियारा की है और यहां बनारसी टोला में क्रिस्टल अपार्टमेंट में रहती थी। उसके खिलाफ रीयल एस्टेट कारोबारी सेक्टर ई निवासी संतोष तिवारी ने नाबालिग बेटे को प्रेम जाल में फंसाकर उसकी उम्र के फर्जी दस्तावेज बनाकर आर्य समाज मंदिर में शादी करने का आरोप लगाते हुए एफआईआर कराई थी।

उनका कहना था कि अर्शी से बेटे की मुलाकात अगस्त 2019 में महानगर स्थित जिम में हुई थी। इसके बाद वह अक्सर उसी जिम, स्कूल या क्लब में जाने लगी, जहां बेटा आता-जाता था। अर्शी ने उनके बेटे की फेसबुक प्रोफाइल भी खंगाली थी। उसे पता चला कि वह करोड़पति है तो दोस्ती करने के बहाने प्रेमजाल में फंसा लिया।

इसके बाद फैजुल्लागंज निवासी नीरज मिश्रा, इंदिरानगर सेक्टर 11 में रहने वाले मनीष शुक्ला व सुनील कुमार दुबे, जानकीपुरम के अभिषेकपुरम निवासी समरजीत सिंह और शिवम शुक्ला के साथ मिलकर साजिश रची।

उनके बेटे की उम्र के फर्जी दस्तावेज बनवाए और 25 नवंबर 2019 को जानकीपुरम के सहारा स्टेट स्थित आर्य समाज मंदिर में उससे शादी कर ली। इसके बाद अर्शी उनके बेटे को फुसलाकर मुंबई भगा ले गई। 30 नवंबर को बेटे ने फोन कर शादी करने की जानकारी दी तो होश उड़ गए। मुंबई में सबने रीयल एस्टेट कारोबारी के बेटे को रुपयों के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

कारोबारी का आरोप है कि शातिरों ने उसे धीमा जहर देना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मानसिक स्थिति खराब होने लगी। वह अक्सर बेटे के मांगने पर रुपया भेजते थे। बदमाशों ने उनके बेटे की करीब चार करोड़ की जमीन अपने नाम करने का दबाव बनाया। कारोबारी का आरोप है कि 29 जुलाई को अर्शी व नीरज ने कपूरथला चौराहा बुलाकर बेटे को छोड़ने के एवज में 50 लाख रुपये मांगे थे।

ऐसा न करने पर उनकी बेटी का अपहरण कर हत्या की धमकी दी थी। कोई रास्ता न देख उन्होंने अलीगंज थाने में अर्शी व उसके साथियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इंस्पेक्टर का कहना है कि अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news