मालगाड़ी ने रेल ट्रैक पर सो रहे 16 प्रवासी मजदूरों को कुचला, सभी महाराष्ट्र से MP जा रहे थे
ताज़ातरीन

मालगाड़ी ने रेल ट्रैक पर सो रहे 16 प्रवासी मजदूरों को कुचला, सभी महाराष्ट्र से MP जा रहे थे

महाराष्ट्र के जालना और औरंगाबाद के बीच एक मालगाड़ी ने रेल ट्रैक पर सो रहे मजदूरों को रौंद दिया. ये सभी मजदूर मध्य प्रदेश के रहने वाले थे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतक मजदूरों के परिवार वालों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है.

Yoyocial News

Yoyocial News

महाराष्ट्र के जालना और औरंगाबाद के बीच चलने वाली एक मालगाड़ी ने रेलवे ट्रैक पर सो रहे कम से कम 15 प्रवासी मजदूरों को कुचल दिया। अधिकारियों ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी। कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के बीच यह प्रवासी श्रमिक अपने मूल स्थान पर वापस लौटने का प्रयत्न कर रहे थे।

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बात की पुष्टि कर कहा, "दक्षिण मध्य रेलवे के नांदेड़ डिवीजन के जालना और औरंगाबाद के बीच एक मालगाड़ी ने 15 प्रवासी मजदूरों को कुचल दिया है।"

उन्होंने आगे कहा, "यह घटना शुक्रवार सुबह 5.30 बजे के आसपास उस वक्त हुई, जब अपने घरों को वापस जा रहे प्रवासी मजदूर रेलवे की पटरियों पर सो रहे थे।"

घटना महाराष्ट्र के औरंगाबाद की है. यहां रेल की पटरी पर प्रवासी मजदूरों को एक मालगाड़ी ने रौंद दिया है. हादसा औरंगाबाद के जालना रेलवे लाइन के पास हुआ, जिसमें 16 मजदूरों की मौत हो गई. कई अन्य मजदूर घायल हैं. रेल मंत्री ने इस घटना के जांच के आदेश दिए हैं.

ये सभी प्रवासी मजदूर अपने घर पैदल जा रहे थे, जिस दौरान ये हादसा हुआ. घटना के बाद स्थानीय प्रशासन और रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं.

ये सभी मजदूर मध्य प्रदेश के रहने वाले थे, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतक मजदूरों के परिवार वालों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है. उन्होंने रेल मंत्री से बात कर घायलों की सहायता करने को कहा है.

गौरतलब है कि रेलवे ने 1 मई से फंसे हुए प्रवासियों को उनके मूल स्थानों तक पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाना शुरू किया है। अब तक रेलवे 201 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला चुका है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news