मिसाल: केरल की इस महिला को इनाम में मिला घर, इस तरह की थी दृष्टिबाधित युवक को बस में चढ़ाने में मदद
ताज़ातरीन

मिसाल: केरल की इस महिला को इनाम में मिला घर, इस तरह की थी दृष्टिबाधित युवक को बस में चढ़ाने में मदद

कुछ दिन पहले एक औरत की दयालुता उभरकर सामने आई, जिसका पूरा देश जमकर तारीफ कर रहा है. केरल की एक महिला ने एक दृष्टिबाधित युवक की बस में चढ़ने में मदद की थी, इसलिए उन्हें निस्वार्थ रूप से किए गए इस काम के बदले एक घर इनाम के रूप में दिया गया है.

Yoyocial News

Yoyocial News

भले ही ये दुख की घड़ी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है लेकिन इस बीच कई ऐसी चीजें भी निकलकर सामने आईं जिसके बाद ये एहसास हुआ कि अब भी इंसानियत बची हुई है. लोग हैं जो दूसरों की मदद के बारे में सोचते हैं. इंसानियत और दयाभाव की मिसालें अब भी कायम की जा रही हैं. कुछ दिन पहले ऐसी ही एक सुंदर तस्वीर आई थी केरल से, जहां एक औरत की दयालुता उभरकर सामने आई, जिसका पूरा देश जमकर तारीफ कर रहा है.

केरल की एक महिला ने एक दृष्टिबाधित युवक की बस में चढ़ने में मदद की थी. इसके लिए महिला ने पहले बस को रुकवा कर कंडक्टर को रुकने के लिए कहा था. इसके बाद महिला कुछ कदम पीछे गई और दृष्टिबाधित शख्स को लेकर आई ताकि वह बस में चढ़ सके. इस घटना के वीडियो को एक शख्स ने अपने कैमरे पर शूट कर लिया था और सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था. वीडियो के सोशल मीडिया पर आते ही यह वायरल हो गया था. केरल की इस महिला का नाम सुप्रिया है, जिन्हें उनके द्वारा निस्वार्थ रूप से किए गए इस काम के बदले एक घर इनाम के रूप में दिया गया है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक सुप्रिया पिछले तीन सालों से जौली स्लिक नाम की एक टेक्सटाइल शॉप में काम कर रही हैं, जो तिरुवल्ला में स्थित है. जिस दिन सुप्रिया ने दृष्टिबाधित व्यक्ति की मदद की थी, उस दिन सुप्रिया स्टोर का खुलने का इंतजार कर रही थी. सुप्रिया के इस नेक काम की जानकारी जब जोयलुक्कास समूह के चेयरमैन जोय अलुक्कास को हुई तो उन्होंने सुप्रिया को शुभकामनाएं दी.

जोय अलुक्कास ने सुप्रिया को त्रिशूर में स्थित अपने हेड ऑफिस में बुलाया और उन्हें नया घर इनाम के रूप में दिया. यह घर सुप्रिया के नाम पर है.

इस बारे में बात करते हुए सुप्रिया ने कहा, ''मैंने कभी नहीं सोचा था कि हमें वहां इतना बड़ा सरप्राइज मिलेगा. मेरी आंखों में उस वक्त आंसु आ गए जब वहां काम करने वाले लाखों लोगों ने मुझे शुभकामनाएं दी. यह एक सहज कार्य था और मैंने कभी नहीं सोचा था कि इससे मुझे इतनी प्रशंसा और प्यार मिलेगा.'' सुप्रिया के पति एक प्राइवेट नौकरी करते हैं.

उन्होंने कहा, ''आपने इतना अच्छा काम किया होगा और हो सकता है कि आपको ऐसा करने के लिए प्रेरणा मिली हो. इस दुनिया में दयालुता बहती है और यह कभी खत्म नहीं होती है. जोली अलुक्कास के इन शब्दों ने मेरा दिल जीत लिया.'' सुप्रिया का जो वीडियो वायरल हो रहा है, उसमें वह एक बस के पीछे भागते हुए नजर आ रही हैं और कंडक्टर को बस रोकने के लिए निवेदन करते हुए नजर आ रही हैं.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news