GST Collections: अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, सरकारी खजाने में आए 1.68 लाख करोड़ रुपये

जीएसटी लागू होने के बाद पहली बार जीएसटी कलेक्शन किसी एक महीने में 1.50 लाख करोड़ रुपये के पार हुआ है। यह आंकड़ा रविवार को वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी किया गया है।
GST Collections: अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, सरकारी खजाने में आए 1.68 लाख करोड़ रुपये

अप्रैल का महीना सरकार के लिए काफी अच्छा रहा है। जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) ने अपने पुराने सभी रिकाॅर्ड तोड़ दिए हैं। बीते महीने जीएसटी कलेक्शन 1.68 लाख करोड़ रुपये हुआ। जीएसटी लागू होने के बाद पहली बार जीएसटी कलेक्शन किसी एक महीने में 1.50 लाख करोड़ रुपये के पार हुआ है। यह आंकड़ा रविवार को वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी किया गया है।

वित्त मंत्रालय की तरफ जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार मार्च के महीने में जीएसटी कलेक्शन 1.42 लाख करोड़ रुपये हुआ था। मार्च की तुलना में अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 26 लाख करोड़ रुपये अधिक हुआ। अर्थव्यवस्था के नजरिए से यह एक अच्छा संकेत है।

अप्रैल, 2022 के महीने में सकल जीएसटी राजस्व (GST revenue Collected) 1,67,540 करोड़ रुपये है, जिसमें से सीजीएसटी (CGST) 33,159 करोड़ रुपये, एसजीएसटी (SGST) 41,793 करोड़ रुपये, वस्तुओं के आयात पर एकत्रित 36,705 करोड़ रुपये सहित आईजीएसटी (IGST) 81,939 करोड़ रुपये और माल के आयात पर एकत्रित 857 करोड़ रुपये सहित उपकर 10,649 करोड़ रुपये है।

सरकार ने आईजीएसटी से 33,423 करोड़ रुपये सीजीएसटी और 26962 करोड़ रुपये एसजीएसटी तय किए हैं। नियमित निपटान के बाद अप्रैल 2022 में केंद्र और राज्यों का कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 66,582 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 68,755 करोड़ रुपये है। अप्रैल 2022 का राजस्व पिछले साल के इसी महीने में जीएसटी राजस्व से 20 प्रतिशत अधिक है।

मार्च 2022 में कुल 7.7 करोड़ ई-वे बिल सृजित हुए, जो फरवरी 2022 में सृजित 6.8 करोड़ ई-वे बिल से 13 प्रतिशत अधिक है। यह देश में तेज गति से व्यावसायिक गतिविधि को दर्शाता है। इस वर्ष अप्रैल के दौरान जीएसटीआर-3बी में 1.06 करोड़ जीएसटी रिटर्न दाखिल किए गए, जिनमें से 97 लाख मार्च में दाखिल किए गए रिटर्न हैं। अप्रैल 2021 के दौरान कुल 92 लाख रिटर्न दाखिल किए गए थे।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.