बिकरू की 'बुरी आत्माओं से छुटकारे' के लिए पुलिस स्टेशन में हवन, पूजा खत्म होने तक नहीं दर्ज हुई कोई शिकायत
ताज़ातरीन

बिकरू की 'बुरी आत्माओं से छुटकारे' के लिए पुलिस स्टेशन में हवन, पूजा खत्म होने तक नहीं दर्ज हुई कोई शिकायत

कुछ स्थानीय ग्रामीणों के साथ लगभग सभी ड्यूटी स्टाफ ने हवन में भाग लिया। पुजारी ने मंत्रोच्चार के साथ कर्मचारियों को आश्वस्त कराया कि पुलिस स्टेशन अब बुरे प्रभावों से मुक्त हो गया है।

Yoyocial News

Yoyocial News

यूपी के कानपुर के एक पुलिस स्टेशन में पुलिसकर्मियों ने बढ़ते क्राइम ग्राफ को देखते हुए और 'बुरी आत्माओं को दूर भगाने' के लिए हवन का आयोजन किया। हवन का आयोजन 3 जुलाई को हुए बिकरू कांड को देखते हुए आयोजित कराया गया, जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए और 7 अन्य घायल हो गए थे। हवन का आयोजन मंगलवार को किया गया। गौरतलब है कि बिकरू कांड के बाद चौबेपुर पुलिस स्टेशन में तैनात सभी कर्मचारियों को हटा दिया गया था।

स्टेशन के पुलिसकर्मियों ने कहा कि एक स्थानीय पुजारी ने उन्हें बुरी आत्माओं से मुक्त करने के लिए नियमित रूप से पूजा करने की सलाह दी थी। पुलिस अधिकारी ने कहा 'कई कर्मियों ने ड्यूटी के दौरान असहज महसूस करने की शिकायत की थी, इसलिए हमने सोचा कि हवन से माहौल बेहतर हो सकता है। हमने बिकरू हत्याकांड के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और हम अतीत को अपने पीछे रखना चाहते हैं।'

कुछ स्थानीय ग्रामीणों के साथ लगभग सभी ड्यूटी स्टाफ ने हवन में भाग लिया। पुजारी ने मंत्रोच्चार के साथ कर्मचारियों को आश्वस्त कराया कि पुलिस स्टेशन अब बुरे प्रभावों से मुक्त हो गया है। वहीं, हवन के दौरान किसी भी पुलिसकर्मी ने शिकायतकर्ताओं की शिकायत दर्ज नहीं की और उन्हें पूजा खत्म होने तक इंतजार करना पड़ा।

चौबेपुर स्टेशन के इंचार्ज डी. चौधरी ने संवाददाताओं को बताया 'थाने की पवित्रता के लिए हवन का आयोजन किया गया।' कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में सर्किल ऑफिसर समेत 8 पुलिसकर्मियों को गैंगस्टर विकास दुबे और उसके साथियों ने मिलकर मार डाला था। वहीं,विकास दुबे 10 जुलाई को एक मुठभेड़ में मारा गया था। उसके 5 साथी भी पुलिस मुठभेड़ों में मारे गए।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news