आंध्र प्रदेश और ओडिशा में भारी बारिश, 5 लोगों की मौत
ताज़ातरीन

आंध्र प्रदेश और ओडिशा में भारी बारिश, 5 लोगों की मौत

आंध्र प्रदेश के 100 से ज्यादा स्थानों पर 11.5 सेंटीमीटर से लेकर 24 सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गई है. पूर्वी गोदावरी, पश्चिम गोदावरी, श्रीकाकुलम, विजयनगरम, विशाखापट्टनम और कृष्णा जिले में लोग भारी बारिश से भयंकर आपदाजनक स्थिति में फंस गए हैं।

Yoyocial News

Yoyocial News

राज्य में भारी बारिश का कारण बंगाल की खाड़ी में बना गहरे दबाव का क्षेत्र है। आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया है कि गहरे दबाव का क्षेत्र सोमवार शाम साढ़े छह बजे से मंगलवार सुबह साढ़े सात बजे के बीच तटीय क्षेत्रों से गुजरा।

तूफान की वजह से विशाखापट्टनम के नर्सीपटनम में कार के बह जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई. हादसे में तीन लोगों का सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है।

मौसम विभाग ने आशंका जाहिर की थी कि इस कम दबाव के क्षेत्र के निर्माण की वजह से आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ और ओडिशा में भारी बारिश संभव है. इन पांचों राज्यों के समुद्री इलाकों में 20 सेंटीमीटर तक बारिश हो सकती है।

बंगाल की खाड़ी में बने उच्च दवाब के कारण मंगलवार सुबह आंध्र प्रदेश में भारी वर्षा हुई, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई। भारी वर्षा के चलते मुनगाडा मंडल के गणपति नगर में दो लोगों की मौत हो गई, वहीं एक व्यक्ति की विशाखापट्टनम जिले के छेड़ीकड़ा मंडल में नदी में डूबने से मौत हो गई।

राजामुंदरी ग्रामीण सीमा के अंतर्गत आने वाले बोमुरु गांव में एक दीवार ढहने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

विजयवाड़ा शहर में विद्याधरपुरम फोर पीलर सेंटर के पास भूस्खलन होने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं भूस्खलन से पहाड़ पर स्थित कई घर भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

विशाखापट्टनम जिले में भारी वर्षा के कारण 40 गांव के लगभग 350 घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

इस बीच, तीन राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की टीमों को विशाखापट्टनम कलेक्टर के तहत तैयार रखा गया है।

जानकारी के मुताबिक, राज्य में भारी बारिश का कारण बंगाल की खाड़ी में बना गहरे दबाव का क्षेत्र है। गहरे दबाव का क्षेत्र राज्य के पूर्वी गोदावरी जिले के काकीनाडा में तटीय इलाकों के करीब से होकर गुजरा। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया है कि गहरे दबाव का क्षेत्र सोमवार शाम साढ़े छह बजे से मंगलवार सुबह साढ़े सात बजे के बीच तटीय क्षेत्रों से गुजरा।

सूत्रों ने कहा कि नुकसान का अभी तत्काल पता नहीं चल पाया है क्योंकि कई क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति अब भी बहाल नहीं है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने सोमवार को बताया था कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर अगले 24 घंटे में कम दबाव का क्षेत्र गहरे दबाव के क्षेत्र में तब्‍दील हो जाएगा. ऐसे में यह तूफान में बदल सकता है. इस दौरान पांच राज्‍यों के लिए अलर्ट जारी किया गया था

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news