रेस्त्रां से होम डिलीवरी और सीमित गेस्ट के साथ शादी समारोह की इजाजत... लेकिन UP सरकार आज जारी करेगी अपनी गाइड लाइन्स
ताज़ातरीन

रेस्त्रां से होम डिलीवरी और सीमित गेस्ट के साथ शादी समारोह की इजाजत... लेकिन UP सरकार आज जारी करेगी अपनी गाइड लाइन्स

लॉकडाउन को लेकर सारे व्यावहारिक फैसले राज्य सरकारों को वहां के हालात के मद्देनजर तय करने का अधिकार दिया गया है. यूपी सरकार आज इस दिशा में विस्तृत गाइड लाइन जारी करेगी.

Yoyocial News

Yoyocial News

पूरे देश में लॉकडाउन 4.0 को बढ़ा दिया गया है. इस बाबत गृह मंत्रालय ने गाइडलाइंस जारी कर दी लेकिन घरेलू-विदेशी उड़ानों को इजाजत नहीं दी गई है. हॉटस्पॉट एरिया में सख्ती पहले जैसी ही जारी रहेगी. मेट्रो कहीं नहीं चलेगी. स्कूल-कॉलेज बंद भी बंद रहेंगे. रेस्त्रां, स्कूल और जिम को भी खोलने की इजाजत नहीं दी गई है. वैसे रेस्तरां खुल सकते हैं जो सिर्फ होम डिलीवरी करते हैं लेकिन ये फैसला भी स्थानीय स्तर पर ही होगा.

लॉकडाउन को लेकर सारे व्यावहारिक फैसले राज्य सरकारों को वहां के हालात के मद्देनजर तय करने का अधिकार दिया गया है. यूपी सरकार आज इस दिशा में विस्तृत गाइड लाइन जारी करेगी.

क्या है गाइड लाइन

गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों के मुताबिक चिकित्सा में सहयोग करने वाले होटल के अलावा सभी होटल और रेस्तरां बंद रहेंगे. हालांकि होम डिलिवरी की सुविधा दी जा सकती है. लॉकडाउन 4.0 में भी मेट्रो और रेल सेवा बंद रहेगी. सामान्य हवाई सेवा भी नहीं संचालित होगी. स्कूल, कॉलेज और कोचिंग भी बंद रहेंगी.

कुछ ख़ास-

- इस दौरान स्कूल-कॉलेज भी बंद पहले की तरह ही बंद रहेंगे.

- मेट्रो, सामान्य रेल और हवाई सेवाएं, शोपिंग मॉल, होटल और बार बंद रहेगें

- सभी तरह के पूजा स्थल बंद रहेंगे और ईद भी इस बार लॉकडाउन में मनाई जाएगी.

- शादी समारोह की इजाजत होगी लेकिन 50 से ज्यादा लोग शामिल नहीं होंगे. सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य एहतियात पूरी तरह बरतनी होंगी. सब के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा.

दुकान खोलने पर राज्य लेंगे फैसला

गृह मंत्रालय के दिशानिर्देश के मुताबिक लॉकडाउन चार में मॉल और कॉम्पलेक्स को खोलने की इजाजत नहीं दी गई है, लेकिन दुकानों को खोलने पर राज्य सरकारें अपने स्तर पर फैसला कर सकती हैं.

लॉकडाउन 4.0 में सभी सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रम प्रतिबंधित रहेंगे. ज्यादा लोगों के एकत्रित होने को कानून का उल्लंघन माना जाएगा. धार्मिक स्थान भी बंद रहेंगे.

बसों की आवाजाही पर राज्य करेंगे फैसला

कोरोना लॉकडाउन 4.0 के दौरान राज्यों की परस्पर सहमति से अंतरराज्यीय यात्री वाहनों, बस सेवाओं की आवाजाही को अनुमति दी जा सकती है. राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अपने-अपने यहां कोरोना वायरस संक्रमण के हालात को देखते हुए रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाने का अधिकार दे दिया गया है. अब इसमें कन्टेनमेंट जों और बफर जोन और जोड़ दिया गया है. यह भी साफ़ किया गया है कि जोन का निर्धारण राज्य प्रशासन कोरोना केसेस को देखते हुए तय करेगा.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news