कृषि कानून पर बोले ICAR उपमहानिदेशक, नए कानूनों से किसानों का मुनाफा बढ़ेगा

कृषि कानून पर बोले ICAR उपमहानिदेशक, नए कानूनों से किसानों का मुनाफा बढ़ेगा

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ( ICAR ) के उपमहानिदेशक ए.के. सिंह ने सोमवार को कहा कि नए कृषि कानून किसानों को उनकी आय को बड़े पैमाने पर बढ़ाने में मदद करेंगे।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR) के उपमहानिदेशक ए.के. सिंह ने सोमवार को कहा कि नए कृषि कानून किसानों को उनकी आय को बड़े पैमाने पर बढ़ाने में मदद करेंगे। तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग के साथ नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर किसानों की ओर से विरोध प्रदर्शन जारी है। इस बीच सिंह का यह बयान सामने आया है।

आईसीएआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हॉर्टिकल्चरल रिसर्च (IIHR), बेंगलुरु द्वारा आयोजित पांच दिवसीय राष्ट्रीय बागवानी मेला 2021 को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि बिचौलियों के समाप्त होने से किसानों को उनकी उपज के लिए लाभ का एक बड़ा हिस्सा प्राप्त होगा।

उन्होंने कहा, इन कानूनों से बागवानी फसल विविधीकरण की काफी संभावनाएं हैं और किसानों को भविष्य में बेहतर कीमत मिलने वाली है।

सिंह ने दावा किया कि केंद्र सरकार की सक्रिय नीतियां और किसानों के प्रयासों से बागवानी उत्पादन अगले पांच वर्षो में खाद्यान्न उत्पादन को पार कर जाएगा।

उन्होंने कहा कि आईसीएआर द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों ने कृषि उत्पादन बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

उन्होंने कहा कि कृषि में युवाओं को आकर्षित करने के लिए चलाई जा रही स्कीम और छात्र ग्रामीण उद्यमिता जागरूकता विकास योजना ग्रामीण शिक्षित युवाओं को कृषि की ओर आकर्षित करने में बहुत कारगर साबित हुई हैं।

सिंह ने कहा कि इसके अलावा केंद्र सरकार ने एग्री-बिजनेस इनक्यूबेशन सेंटर स्थापित करने के लिए भी नए कृषि स्टार्ट-अप को देश भर में आने के लिए प्रोत्साहित किया है।

उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ाने के प्रयास में, केंद्र सरकार ने किसानों को उद्यमी बनाने में मदद करने के लिए कृषि विज्ञान केंद्रों में उद्यमिता विकास कार्यक्रम (ईडीपी) शुरू किया है।

उन्होंने कहा, "हम (आईसीएआर) इस तरह के कार्यक्रमों को सभी तकनीकी सहायता प्रदान कर रहे हैं।" उन्होंने कहा कि इन कदमों से न केवल युवाओं को रोजगार के अवसर बढ़े हैं, बल्कि किसानों के लिए आय में भी वृद्धि हुई है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news