अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या, पिता ने कहा, 'आखिरी बार बात दो दिन पहले हुई, खुश था बेटा'

भारतीय फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी की अफगानिस्तान के कंधार प्रांत में हत्या कर दी गई है। अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुन्दजई ने इसको लेकर जानकारी दी।
अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या, पिता ने कहा, 'आखिरी बार बात दो दिन पहले हुई, खुश था बेटा'

भारतीय फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी की अफगानिस्तान के कंधार प्रांत में हत्या कर दी गई है। अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुन्दजई ने इसको लेकर जानकारी दी। दूसरी ओर दानिश के पिता ने बताया कि, करीब एक घंटे पहले हमें अपने बेटे के बारे में जानकारी मिली। दरअसल दानिश सिद्दीकी अफगान सुरक्षा बलों के साथ एक रिपोर्टिग असाइनमेंट पर थे, उसी दौरान उनकी हत्या कर दी गई।

दिल्ली निवासी दानिश सिद्दीकी के पिता प्रोफेसर अख्तर सिद्दीकी ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि, "मुझे करीब 1 घंटे पहले मेरे बेटे को लेकर जानकारी मिली थी। मेरे बेटे से आखिरी बार बात दो दिन पहले हुई थी, और वह उस वक्त बेहद खुश था।"

दानिश सिद्दीकी को साल 2018 में पुलित्जर पुरस्कार से नवाजा गया था, ये अवॉर्ड उन्हें रोहिंग्या मामले में कवरेज के लिए मिला था।

वहीं भारत में अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुन्दजई ने दानिश के बारे में लिखा, "कल रात कंधार में एक दोस्त दानिश सिद्दीकी की हत्या की दुखद खबर से गहरा दुख हुआ है।"

"भारतीय पत्रकार और पुलित्जर पुरस्कार विजेता अफगान सुरक्षा बलों के साथ थे, जब उन पर आतंकवादियों ने हमला किया था, मैं उनसे 2 हफ्ते पहले काबुल के लिए रवाना होने से पहले मिला था।"

उन्होंने बताया कि, "मैं उनके परिवार और रॉयटर्स के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं।"

हालांकि दानिश सिद्दीकी अफगानिस्तान में जारी संकट को लगातार कैमरे में कैद कर रहे थे, और अपने सोशल मीडिया पर लोगों को सूचित कर रहे थे।

दानिश सिद्दीकी की मृत्यु पर जल्द ही जामिया युनिवर्सिटी भी शोक संदेश जारी करेगी, दरअसल दानिश सिद्दीकी के पिता जामिया में प्रोफेसर रहे चुके हैं और दानिश ने भी जामिया से ही पढ़ाई की है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news