Jindal Steel करेगी भारतीय रेल के लिए पहियों का निर्माण, छत्तीसगढ़ में लगेगी फैक्ट्री

देश में निजी क्षेत्र की पहली कंपनी जो विशेष रेलों का उत्पादन करने के साथ-साथ यात्री डिब्बों और मालगाड़ियों के लिए पहियों का निर्माण करेगी। इस रेल पहिया फैक्टरी की शुरूआती उत्पादन क्षमता प्रतिवर्ष 25 हजार व्हीलसेट होगी।
Jindal Steel करेगी भारतीय रेल के लिए पहियों का निर्माण, छत्तीसगढ़ में लगेगी फैक्ट्री

देश में निजी क्षेत्र की पहली कंपनी जो विशेष रेलों का उत्पादन करने के साथ-साथ यात्री डिब्बों और मालगाड़ियों के लिए पहियों का निर्माण करेगी। इस रेल पहिया फैक्टरी की शुरूआती उत्पादन क्षमता प्रतिवर्ष 25 हजार व्हीलसेट होगी।

जानकारी के अनुसार जिन्दल स्टील छत्तीसगढ़ में रेल पहिये की फैक्ट्री लगाएगा। जिन्दल स्टील एसिमेट्रिक रेलों के लिए रेल फोजिर्ंग यूनिट की स्थापना भी करेगी, इन रेलों का उपयोग तेज रफ्तार दौड़ने वाली ट्रेनों के लिए होगा।

राष्ट्र निर्माण के लिए आवश्यक इस महत्वाकांक्षी योजना को अंजाम देने के लिए कंपनी ने जीआईएफएलओ-हंगरी के साथ एक समझौता किया है।

कंपनी देश की विभिन्न मेट्रो परियोजनाओं के लिए हेड हार्डेंड रेल भी तैयार कर रही है। रेल इन्फ्रास्ट्रक्च र विकास योजनाओं को आगे बढ़ाते हुए जिन्दल स्टील एसिमेट्रिक रेलों के लिए रेल फोजिर्ंग यूनिट भी स्थापित कर रही है, जिसका इस्तेमाल रेल ट्रैक्स स्वीचेज, खासकर तेज रफ्तार ट्रेनों के संचालन में किया जाएगा।

जिंदल स्टील एंड पावर (जेएसपी) ने शुक्रवार को कहा कि उसने छत्तीसगढ़ में अपनी रायगढ़ सुविधा में भारत का पहला रेल व्हीलसेट निर्माण संयंत्र स्थापित करने का निर्णय लिया है।

जेएसपी ने इस परियोजना के लिए हंगरी स्थित जीआईएफएलओ स्टील के साथ गठजोड़ किया है। दोनों फर्मों ने 27 मई 2022 को राष्ट्रीय राजधानी में फिक्की के साथ हंगरी के दूतावास द्वारा आयोजित इंडिया हंगरी बिजनेस फोरम में परियोजना के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

संयंत्र की प्रारंभिक क्षमता 25,000 व्हीलसेट प्रति वर्ष होगी। जिंदल स्टील एसिमेट्रिक रेल के लिए एक रेल फोजिर्ंग यूनिट भी लगाएगी जिसका इस्तेमाल रेल ट्रैक स्विच में किया जाता है, खासकर हाई स्पीड ट्रेन ट्रैक के लिए।

इस संबंध में जिन्दल स्टील एंड पावर के प्रबंध निदेशक वी.आर. शर्मा ने कहा कि उनकी कंपनी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किये गए आत्मनिर्भर भारत अभियान में बढ़-चढ़कर सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है। रेल पहिया प्लांट से भारतीय रेल के आधुनिकीकरण को गति मिलेगी और विश्वस्तरीय गुणवत्ता वाले पहियों की उपलब्धता से हम भारत सरकार के दूरदर्शी गतिशक्ति अभियान को साकार करने में एक महत्वपूर्ण साझेदार साबित होंगे। रायगढ़ की रेल मिल से भारतीय रेलवे और विभिन्न मेट्रो रेल परियोजनाओं को विशेष ग्रेड के रेल की आपूर्ति की जा रही है।

जिन्दल स्टील एंड पावर 1080 एचएच एवं 1175 एचटी हेड हार्डेंड रेल ग्रेड की एकमात्र भारतीय निर्माता है। ये पटरियां 25 टन से अधिक भार वहन की क्षमता रखती हैं और तेज रफ्तार दौड़ने वाली गाड़ियों के लिए उपयुक्त हैं। जेएसपी 60ई1, जेडयू1-60 और 60ई1ए1 मानदंडों के अनुरूप आर260 और 880 ग्रेड की पटरियों का भी निर्माण करता है और आर350 एचटी ग्रेड पटरियों का निर्यातक है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news