बाइडन ने हैरिस को भारतीय कहने से किया परहेज, कहा 'दक्षिण एशियाई'
ताज़ातरीन

बाइडन ने हैरिस को भारतीय कहने से किया परहेज, कहा 'दक्षिण एशियाई'

बाइडन ने कहा "देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति,पहली ऐसी अश्वेत महिला, दक्षिण एशियाई मूल की पहली महिला और इस देश में कभी भी राष्ट्रीय पद के लिए चुनी गई अप्रवासियों की पहली बेटी हैं जिन्होंने उपराष्ट्रपति बनकर इतिहास रचा है।"

Yoyocial News

Yoyocial News

अपनी रनिंग मेट कमला हैरिस की 'शानदार उपराष्ट्रपति' के रूप में चुने जाने की प्रशंसा करते हुए, अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने उन्हें 'भारतीय' कहने से परहेज किया और इसके बजाय उन्हें 'दक्षिण एशियाई' कहा।

बाइडन ने शनिवार रात अपने गृह राज्य डेलावेयर में कहा, "एक शानदार उपराष्ट्रपति कनला हैरिस के साथ काम करना मेरे लिए सम्मान की बात होगी, जो देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति,पहली ऐसी अश्वेत महिला, दक्षिण एशियाई मूल की पहली महिला और इस देश में कभी भी राष्ट्रीय पद के लिए चुनी गई अप्रवासियों की पहली बेटी हैं जिन्होंने उपराष्ट्रपति बनकर इतिहास रचा है।"

अमेरिकी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नस्लीय श्रेणीकरण में 'दक्षिण एशियाई' शामिल नहीं है, जबकि एशियाई भारतीय आधिकारिक तौर पर भारतीय मूल के लोगों के लिए सूचीबद्ध है।

भारतीय मूल के लोग भी आधिकारिक तौर पर एशियाइयों की व्यापक श्रेणी में आते हैं, जिसमें पूरे महाद्वीप के लोग शामिल हैं, लेकिन कोई 'दक्षिण एशियाई' नहीं है।

आम तौर पर दक्षिण एशियाई लोगों में भारतीय, पाकिस्तानी, बांग्लादेशी, श्रीलंकाई, मालदीव, भूटानी और नेपाली शामिल हैं, और इसे अमेरिका में कुछ 'प्रगतिशील' भारतीयों द्वारा पसंद किया जाता है, जो एक ऐसी पहचान की तलाश में हैं जिसे वे भारतीय और राजनीतिक रूप से सही के तौर पर शायद अधिक समावेशी के रूप में देखते हैं।

कभी-कभी सामान्य उपयोग में दक्षिण एशियाई का इस्तेमाल किसी ऐसे व्यक्ति को संदर्भित करने के लिए उपयोग किया जाता है, जिसकी राष्ट्रीय पहचान का पता नहीं लगाया जा सकता है, लेकिन इस क्षेत्र में भौतिक या अन्य विशेषताएं सामान्य हैं।

हैरिस ने अपनी मां श्यामल हैरिस गोपालन के भारत से 19 साल की उम्र में अमेरिका आने की बात कही, लेकिन अपनी भारतीय विरासत के बारे में कुछ भी नहीं कहा।

उन्होंने कहा कि उनकी मां ने शायद इस पल की बहुत कल्पना नहीं की थी, लेकिन उन्होंने अमेरिका में इतनी गहराई से विश्वास किया जहां कि उनकी बेटी के लिए उपराष्ट्रपति बनने के लिए एक ऐसा क्षण संभव है।

हैरिस की मां सिविल राइट मूवमेंट में सक्रिय थीं जिसने अवसर की समानता पैदा की।

निर्वाचित उपराष्ट्रपति ने कहा कि वह उन महिलाओं को याद कर रही हैं जिन्होंने समानता के लिए लड़ाई लड़ी।

जब कार्यक्रम समाप्त होने को आया तो बाइडन और हैरिस अपने परिवार के सदस्यों को मंच पर ले आए।

हैरिस के परिवार ने एशियाई भारतीय, अफ्रीकी अमेरिकी और जमैका मूल के साथ अमेरिका की विविधता को प्रतिबिंबित किया।

हैरिस ने अपनी भतीजी मीना की दोनों बेटियों से बाइडन को मिलवाया।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news