अपनी दूसरी मां के दिए गए बाइबल पर आज शपथ लेंगी कमला हैरिस

अपनी दूसरी मां के दिए गए बाइबल पर आज शपथ लेंगी कमला हैरिस

शेल्टन की बाइबल उन दो बाइबल में से एक है जिस पर कमला हैरिस बुधवार को उपराष्ट्रपति के रूप में हाथ रख कर शपथ लेगी।

कमला हैरिस के राजनीतिक जीवन के अब तक के हर एक बड़े क्षण में एक अश्वेत महिला की बाइबल दिखाई गई है। कैलिफोर्निया के अटॉर्नी जनरल के रूप में उन्होंने इस बाइबल पर अपना बायां हाथ रख कर शपथ ली थी, और यह तब हुआ था जब उन्होंने कैलिफोर्निया से सीनेटर के रूप में अमेरिका के संविधान की रक्षा करने की शपथ ली थी।

बसल नामक मैगजिन में 2019 के लेख में हैरिस ने लिखा था, मैं अपने साथ श्रीमती शेल्टन को हमेशा साथ ले जाती हूं।

शेल्टन की बाइबल उन दो बाइबल में से एक है जिस पर कमला हैरिस बुधवार को उपराष्ट्रपति के रूप में हाथ रख कर शपथ लेगी।

हैरिस ने शपथ ग्रहण से 24 घंटे पहले ट्वीट किया, जब मैं अपना दाहिना हाथ उठाउंगी और पद की शपथ लूंगी तो मैं अपने साथ दो हीरो को साथ में रखूंगी, जो जरूरतमंद लोगों की मदद करते हैं -- न्यायमूर्ति थर्गूड मार्शल और श्रीमती शेल्टन।

दूसरी बाइबल दिवंगत नागरिक अधिकार के लिए लड़ने वाले और सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति थर्गूड मार्शल ने दी थी। मार्शल ने भी होवार्ड विश्वविद्यालय से स्नातक किया था, जो व्हाइट हाउस के पास है और जिन्होंने कमला हैरिस की सोच को बदलने में प्रमुख भूमिका निभाई थी।

मिसेज शेल्टन का नाम रेजिना शेल्टन है, जो ओकलैंड, कैलिफोर्निया में एक ही ब्लॉक में तीन घरों की मालकिन थी। वो उनमें से एक में नर्सरी स्कूल चलाती थी। एक समय था जब तलाक के बाद कमला हैरिस की मां गोपालन अपनी बच्चियों - कमला और माया की देखभाल के लिए मदद की तलाश में थीं और उन्हें रहने के लिए एक जगह की जरूरत थी। गोपालन और उनकी बेटियां शेल्टन की नर्सरी से ऊपर एक अपार्टमेंट में रहने लगे। शेल्टन और गोपालन में दोस्ती इतनी गहरी हो गई कि हैरिस ने शेल्टन को अपनी 'दूसरी मां' कहना शुरू कर दिया।

याहू को दिए एक साक्षात्कार में शेल्टन के भतीजे ऑब्रे ला ब्री ने कहा कि शेल्टन हर रविवार को कमला और माया को वेस्ट ओकलैंड के बैपटिस्ट चर्च ले जाती थी। जिस बाइबल पर हैरिस ने अपने सभी पदों की शपथ ली, वो वही बाइबल है जिसे शेल्टन अपने साथ चर्च ले जाती थी।

कमला हैरिस को बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस सोनिया सोतोमयोर द्वारा उप राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई जाएगी, जो एक 'ऐतिहासिक' क्षण होगा, क्योंकि हैरिस न केवल पहली महिला है बल्कि पहली अश्वेत भी है जो इस पद पर आएंगी। वो पहली भारतीय-अमेरिकी भी है जो अमेरिका की उपराष्ट्रपति बनेंगी।

Keep up with what Is Happening!

AD
No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news