प्राथमिक विद्यालयों को फिर से खोलने पर जल्द ही निर्णय लेंगे: कर्नाटक मंत्री

राज्य में कोविड-19 मामलों की संख्या में गिरावट और उच्च माध्यमिक विद्यालयों और कॉलेजों के फिर से खुलने के बाद सफल संचालन के साथ, कर्नाटक सरकार कक्षा 1 से 5 तक के लिए प्राथमिक विद्यालय शुरू करने पर विचार कर रही है।
प्राथमिक विद्यालयों को फिर से खोलने पर जल्द ही निर्णय लेंगे: कर्नाटक मंत्री

राज्य में कोविड-19 मामलों की संख्या में गिरावट और उच्च माध्यमिक विद्यालयों और कॉलेजों के फिर से खुलने के बाद सफल संचालन के साथ, कर्नाटक सरकार कक्षा 1 से 5 तक के लिए प्राथमिक विद्यालय शुरू करने पर विचार कर रही है। कर्नाटक के शिक्षा मंत्री बी.सी. नागेश ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार कोविड -19 पर गठित तकनीकी विशेषज्ञ समिति के विचार-विमर्श के बाद कक्षा 1 से 5 तक के स्कूल खोलने पर निर्णय लेगी।

उन्होंने कहा, "हम जल्द ही विशेषज्ञ समिति के साथ बैठक कर रहे हैं। मामले पर विचार किया जाएगा और उनकी सहमति के बाद निर्णय लिया जाएगा।"

कर्नाटक सरकार ने 23 अगस्त को कक्षा 9 से 12 के लिए स्कूल और कॉलेज फिर से खोल दिए। राज्य भर में सफलतापूर्वक कक्षाएं संचालित करने के बाद, कक्षा 6 से 9 के छात्रों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने का निर्णय लिया गया है।

कर्नाटक में मान्यता प्राप्त गैर सहायता प्राप्त निजी स्कूल संघ (आरयूपीएसए) लंबे समय से प्राथमिक स्कूलों को फिर से खोलने की मांग कर रहा है। आरयूपीएसए के अध्यक्ष हलनुरु एस लेपाक्ष ने कर्नाटक सरकार को चेतावनी दी थी कि अगर प्राथमिक स्कूल अभी नहीं खोले गए तो वे विरोध प्रदर्शन करेंगे। हालांकि, राज्य सरकार ने प्राथमिक विद्यालय खोलने के संबंध में सतर्क रास्ता अपनाने का फैसला किया है।

कर्नाटक के सभी जिलों ने 2 प्रतिशत से कम कोविड पॉजिटिविटी दर दर्ज की है। कोविड -19 संक्रमण को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने के बाद केरल और महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिलों में इस सप्ताह से वीकेंड कर्फ्यू हटा लिया गया है। राज्य सरकार ने केरल से राज्य में आने वाले छात्रों, कर्मचारियों सहित अन्य लोगों की आवाजाही पर 31 अक्टूबर तक रोक लगा दी है।

विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड -19 संक्रमण फैलने का खतरा बड़ा है क्योंकि राज्य में भाजपा सरकार ने गणेश चतुर्थी समारोह की अनुमति देकर अपना पहरा कम कर दिया है। विशेषज्ञों की समिति राज्य सरकार से गणेशोत्सव समारोह के बाद की स्थिति को देखते हुए निर्णय लेने के लिए कह सकती है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news