symbolic photo
symbolic photo
ताज़ातरीन

कोरोना पॉजिटिव होने पर ध्यान में रखें ये खास 10 बातें...

भारत में मरीजों की संख्या बढ़कर 5 लाख के पार पहुंच चुकी है. कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही लोगों को घर में आइसोलेट रहने या क्वारंटाइन सेंटर जाने की सलाह दी जा रही है.

Yoyocial News

Yoyocial News

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस महामारी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. भारत में मरीजों की संख्या बढ़कर 5 लाख के पार पहुंच चुकी है. कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही लोगों को घर में आइसोलेट रहने या क्वारंटाइन सेंटर जाने की सलाह दी जा रही है. इसके अलावा किसी भी क्वारंटाइन सेंटर जाने से पहले वो 10 खास बातें जो ध्यान में रखना बहुत जरूरी है.

1. किसी भी प्राइवेट और अच्छी सुविधा का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले अपनी इंश्योरेंस पॉलिसी को जरूर चेक करें. आपके पास कम से कम 7 दिन तक ठहरने का पर्याप्त बंदोबस्त (अमाउंट) होना चाहिए. एक अच्छे अस्पताल में इसका खर्च 3.5 लाख तक हो सकता है. अगर आप फैमिली फ्लोटर प्लान या ऑफिस प्लान पर भरोसा कर रहे हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आपातकाल स्थिति में आप अपने परिवार के लिए कितनी राशि बचा रहे हैं, क्योंकि कोविड-19 की वैक्सीन में महीनों लगेंगे.

2. सरकार की तुलना में प्राइवेट सुविधाएं बहुत कम हैं, तो अपने दिमाग को पहले से ही दोनों के लिए तैयार रखें. अगर आपके पास दोनों विकल्प हैं तो कोविड वॉर रूम या सीएमओ ऑफिस से सुविधाओं का ब्यौरा देने का आग्रह करें और फिर दाखिल हो जाएं.

3. दाखिल होते वक्त अपने साथ जरूरी दस्तावेज जैसे कि ऑफिस आई कार्ड, आधार कार्ड और कोविड-19 की रिपोर्ट लाना ना भूलें. आपको कई मौकों पर इनकी जरूरत पड़ेगी.

4. पानी को गर्म रखने की बोतल, गिलोय का जूस, च्यवनप्राश, बिस्किट, कम से कम 5 जोड़ी कपड़े, साबुन, टूथ पेस्ट और साफ-सफाई की तमाम चीजें बैग में रखना ना भूलें. आप चाहें तो सेब या आम जैसे फल भी रख सकते हैं जो लगभग 7 दिन तक नहीं खराब होते. एक चाकू, टिशू पेपर, नमक, शुगर पैकेट, टी बैग्स, मग, पेपर प्लेट और डिस्पोजेबल स्पून भी साथ रखना ना भूलें. संभव हो सकते तो एक स्टीमर भी खरीद लें. सांस में तकलीफ के समय यह बड़ा काम आ सकता है.

5. क्वारंटाइन सेंटर में आपके पास सोने और आराम करने का पर्याप्त समय रहेगा, लेकिन फिर भी यह वक्त इतना आसान नहीं रहने वाला है. वक्त गुजारने के लिए आप कोई किताब पढ़ सकते हैं जो आपके मन को हल्का और तनावमुक्त करने में मदद कर सके.

6. इस बुरे वक्त को जितनी जल्दी और आसानी से निकाला जाए, उतना बेहतर होगा. इसलिए क्वारंटाइन सेंटर जाने से पहले अपनी फेवरेट वेब सीरीज और फिल्मों की एक लिस्ट जरूर बना लें. ओटीटी प्रोडक्ट्स, नेटफ्लिक्स, हॉटस्टार और प्राइम वीडियो पर ऐसा अंतहीन कंटेंट उपलब्ध है, जो वक्त काटने के लिए काफी है.

7. किसी को जरूरी मेल भेजने से लेकर, टीवी देखने और दोस्तों के साथ स्क्रीन पर वॉच पार्टी ज्वॉइन करने में यह बड़ा काम आएगा. एक बड़ी स्क्रीन पर आप अपने दोस्तों के साथ अच्छे से चैट भी कर पाएंगे.

8. परिवार से दूर क्वारंटाइन सेंटर में भी आपको परिवार के सदस्यों की सेहत का जायजा लेते रहना होगा. ऑक्सीमीटर, बीपी मशीन और थर्मामीटर जैसी चीजें घर लौटते वक्त जरूर लेकर जाएं और घर के सदस्यों को उनसे जांच के तरीके बताएं. यदि घर के किसी सदस्य में लक्षण दिख रहे हैं तो डॉक्टर से फोन पर सलाह लें और कोई भी दवा या विटामिन देने से पहले एक या दो दिन का इंतजार करें. इमरजेंसी केस में टेस्ट कराने की जरूरत पड़ सकती है.

9. सरकार की डिसइंफेक्सन फैसिलिटी का इंतजार करने की बजाए किसी प्राइवेट एंजेंसी से संपर्क करें जो एक या दो दिन के भीतर ही आपके घर को डिसइंफेक्ट कर सके. इसके बाद परिवार को अगले 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन रहने की जरूरत पड़ती है.

10. कोविड-19 वॉर सेंटर के ऑफिसर से मरीज को अपनी गाड़ी से सेंटर तक पहुंचाने की इजाजत मांगें. ऐसा करना संभव है. हल्के और मध्यम लक्षण दिखने पर आप मरीजों को अपने निजी वाहन से भी क्वारंटाइन सेंटर तक ले जा सकते हैं.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news