किसान आंदोलन में जान गंवाने वालों के लिए आज 'श्रद्धांजलि दिवस' मनाएंगे किसान, होगी प्रार्थना सभाएं

किसान आंदोलन में जान गंवाने वालों के लिए आज 'श्रद्धांजलि दिवस' मनाएंगे किसान, होगी प्रार्थना सभाएं

देश के सभी जिलों, तहसील व गांवों में श्रद्धांजलि सभाएं होंगी, दिल्ली के धरना स्थलों पर मुख्य कार्यक्रम होगा। संयुक्त किसान मोर्चा ने आयोजन के लिए एक पोस्टर भी जारी किया है। सभाओं में आंदोलन की आगे की रणनीति पर चर्चा होगी।

देश के सभी जिलों, तहसील व गांवों में श्रद्धांजलि सभाएं होंगी, दिल्ली के धरना स्थलों पर मुख्य कार्यक्रम होगा। संयुक्त किसान मोर्चा ने आयोजन के लिए एक पोस्टर भी जारी किया है। सभाओं में आंदोलन की आगे की रणनीति पर चर्चा होगी

नए कृषि कानूनों के खिलाफ जारी आंदोलन में जान गंवाने वालों की याद में देशभर के किसान रविवार यानी 20 दिसंबर को 'श्रद्धांजलि दिवस' के रूप में मनाएंगे। इस दौरान प्रार्थना सभाओं का आयोजन किया जाएगा।

पूरे उत्तर भारत में चल रही शीत लहर के बीच किसान दिल्ली की सीमाओं पर किसान डटे हैं। कड़ाके की ठंड में भी किसानों ने केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज बुलंद की हुई है।

राजस्थान के अलवर में शाहजहांपुर के पास जयसिंहपुरा-खेड़ा गांव में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक किसान नेता ने कहा, 'लाखों किसान दिल्ली की कड़ाके की ठंड के बावजूद सड़कों पर डटे हैं। वे ठंड और सरकार की ओर से पैदा की जा रही हर बाधा का सामना कर रहे हैं क्योंकि वे अपना लक्ष्य पाना चाहते हैं। उनकी सिर्फ यही मांग है कि तीनों कृषि कानून वापस ले लिए जाएं।'

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने बताया कि रविवार को देश के सभी जिलों, तहसील व गांवों में श्रद्धांजलि सभाएं होंगी। इसमे आंदोलन के दौरान जान गवांने वालों को याद किया जाएगा। जबकि भारतीय किसान युनयिन राजेवाल के ओंकार सिंह ने बताया कि किसानों की याद में 11 बजे से एक बजे के बीच श्रद्धांजलि सभाएं होंगी।

राजस्थान, गुजरात और हरियाणा के किसान हरियाणा-राजस्थान बॉर्डर पर पिछले 7 दिनों से डटे हुए हैं। पिछले हफ्ते रेवाड़ी पुलिस ने इन्हें दिल्ली की ओर बढ़ने से रोक दिया था। हजारों अन्य किसानों को भी दिल्ली की सीमा में घुसने से रोका जा चुका है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news