Lakhimpur Violence: लखीमपुर खीरी हिंसा पर संसद में हंगामा, राहुल लाए स्थगन प्रस्ताव, अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग

दरअसल, लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव को राहुल गांधी ने पेश किया है। राहुल गांधी ने कहा कि, अजय कुमार मिश्रा का बेटा लखीमपुर खीरी कांड का गुनहगार है।
Lakhimpur Violence: लखीमपुर खीरी हिंसा पर संसद में हंगामा, राहुल लाए स्थगन प्रस्ताव, अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग

लखीमपुर हिंसा मामले को लेकर कांग्रेस ने सख्त तेवर दिखाते हुए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है। इस प्रस्ताव में कांग्रेस ने केंद्रीय गृह राज्य अजय कुमार मिश्रा टेनी को हटाने की मांग की है।

दरअसल, लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव को राहुल गांधी ने पेश किया है। राहुल गांधी ने कहा कि, अजय कुमार मिश्रा का बेटा लखीमपुर खीरी कांड का गुनहगार है।

वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने भी लखीमपुर हिंसा मामले को लेकर कहा कि, राहुल गांधी ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है। हम मांग करते हैं कि सरकार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को पद से हटाए। उन्होंने ये भी कहा कि, अगर पीएम मोदी में गंगा माता के लिए जरा सी भी भक्ति का भाव है तो वो अजय कुमार मिश्रा को पद से इस्तीफा देने को कहे या खुद फैसला लेते हुए उन्हें हटाए।

अधीर रंजन ने आगे चुटकी लेते हुए कहा कि पीएम मोदी इस वक्त अपनी छवि को बदलने का काम कर रहे हैं और अजय कुमार मिश्रा को हटाकर वो अपनी छवि में सुधार ला सकते हैं।

साजिश का हुआ खुलासा

बता दें, लखीमपुर खीरी कांड की जांच कर रही एसआईटी ने अपनी जांच में पाया है कि किसानों को गाड़ी से कुचलने की पूरी घटना एक सोची समझी साजिश थी। एसआईटी ने अब आरोपियों पर लगाई गई धाराएं भी बदल दी हैं। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा समेत 14 आरोपियों पर अब गैर इरादतन हत्या की जगह हत्या का केस चलेगा।

प्रदर्शन कर रहे किसानों पर चढ़ाई थी गाड़ी

बता दें कि इसी साल तीन अक्टूबर को यूपी में लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में चार किसानों को एक एसयूवी कार से कुचल दिया गया था, जब वह एक कार्यक्रम में कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर लौट रहे थे। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी मौजूद थे। घटना के बाद हुई हिंसा में भी कुछ लोग मारे गए। घटना के दौरान एक स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप भी मारे गए थे। किसानों ने आरोप लगाया था कि एसयूवी अजय मिश्रा टेनी की थी और उसमें उनका बेटा आशीष मिश्रा था।

सुप्रीम कोर्ट में मामले की पहली सुनवाई आठ अक्टूबर को हुई थी। हिंसा के कई दिनों के बाद आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को 9 अक्टूबर कई घंटों की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news