ममता बनर्जी ने प्रशांत किशोर के साथ मिलकर बनाया गोवा मास्टर-प्लान

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने अपने तत्कालीन राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ मिलकर गोवा विधानसभा चुनाव में उतरने का मास्टर-प्लान तैयार कर लिया है।
ममता बनर्जी ने प्रशांत किशोर के साथ मिलकर बनाया गोवा मास्टर-प्लान

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने अपने तत्कालीन राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ मिलकर गोवा विधानसभा चुनाव में उतरने का मास्टर-प्लान तैयार कर लिया है। पश्चिम बंगाल में टीएमसी को जीत हासिल होने के बाद बेहद उत्साहित पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी की नजर अब गोवा विधानसभा चुनावों पर है। टीएमसी गोवा में विधानसभा चुनाव लड़ने का आधिकारिक ऐलान भी कर सकती है।

सूत्रों के मुताबिक, भवानीपुर की सभा में ममता बनर्जी ने नारा भी लगाया है, "आबार गोवाय खेला होबे (अब गोवा में खेल होगा)।"

ममता बनर्जी ने गोवा के लिए एक टीम का भी गठन किया है, जिसमें अभिषेक बनर्जी और प्रशांत किशोर अहम भूमिका में हैं। सत्तारूढ़ भाजपा से भिड़ने के लिए प्रशांत किशोर की इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी के 200 लोगों की एक टीम को गोवा के मैदान में उतारा गया है, जो टीएमसी के लिए चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाल रही है। यह टीम सर्वे, सोशल मीडिया पर प्रचार, नए उम्मदवारों की तलाश और पार्टी के लिए जातिगत समीकरण तैयार कर रही है।

गौरतलब है कि गोवा में अगले साल (फरवरी 2022 के आसपास) विधानसभा चुनाव होने हैं और टीएमसी ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए इसके मद्देनजर अभी से अपनी रणनीति तैयार कर ली है।

सूत्रों के अनुसार, इस सिलसिले में अभिषेक बनर्जी समेत टीम के कई अन्य सदस्यों ने राजनेताओं, पत्रकारों, सामाजिक-कार्यकर्ताओं व व्यापारियों और राज्य के अन्य कई संगठनों के लोगों से मुलाकात की है। टीएमसी राज्य में कई स्थानीय छोटे मोर्चो को भी अपने साथ लाने की तैयारी कर रही है।

इसके लिए टीएमसी जल्द ही अपने कई सांसदों को गोवा भेज सकती है, जिनका नेतृत्व अभिषेक बनर्जी करेंगे। इस संबंध में राज्य के कुछ नेताओं के साथ पहले ही कई दौर की बैठकें हो चुकी हैं। इससे पहले ममता बनर्जी अपनी राष्ट्रीय महत्वाकांक्षा भी जाहिर कर चुकी हैं। टीएमसी त्रिपुरा में भी चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है।

गोवा में विधानसभा की 40 सीटें हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 17 सीटों पर और भाजपा को 13 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। हालांकि भाजपा ने अन्य छोटे दलों के समर्थन से राज्य में सरकार बनाई।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.