किसानों की गाजियाबाद प्रशासन के साथ बैठक, आंदोलन स्थल पर बिजली, सफाई, पानी की समस्या पर चर्चा

किसानों की गाजियाबाद प्रशासन के साथ बैठक, आंदोलन स्थल पर बिजली, सफाई, पानी की समस्या पर चर्चा

कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन जारी है, ऐसे में समय के साथ साथ बॉर्डर पर किसानों को अब बिजली, पानी और साफ सफाई की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन जारी है, ऐसे में समय के साथ साथ बॉर्डर पर किसानों को अब बिजली, पानी और साफ सफाई की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इसीलिए गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान नेताओं ने गाजियाबाद जिलाधिकारी के अलावा अन्य आला अधिकारियों के साथ एक बैठक की।

इस बैठक में आंदोलन स्थल पर साफ सफाई, मच्छरों की बढ़ती संख्या और बिजली, पानी को लेकर चर्चा की गई। वहीं जिला प्रशासन ने किसानों की मांगों को सुन जल्द ही इन समस्याओं का निस्तारण करने की बात भी कही है।

दरअसल जानकारी ये भी सामने आई है कि प्रशासन द्वारा आंदोलन स्थल पर एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा, जिसमें बिजली से सम्बंधित सामान रखा जाएगा। इतना ही कुछ कर्मचारियों को भी बिठाया जाएगा, जिनका काम आंदोलन स्थल पर बिजली से सम्बंधित समस्याओं का तुरन्त निस्तारण करना होगा।

किसानों के साथ हुई इस बैठक में गाजियाबाद जिला अधिकारी के अलावा अन्य आला अधिकारी मौजूद रहे, वहीं कुछ सम्बंधित विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहे।

भारतीय किसान यूनियन के उत्तरप्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन इस बैठक में मौजूद रहे। उन्होंने आईएएनएस को बताया कि, "हाल ही दिनों से सफाई, पानी, बिजली और फॉगिंग की जद्दोजहद चल रही है। आन्दोलन को 4 महीने हो चुके हैं, लाइट की समस्या नहीं हई, लेकिन ये समस्या पिछले 4 से 5 दिनों से ज्यादा देखने को मिल रही है।"

"लाइट से थोड़े बहुत पंखे चल जाते हैं। मच्छरों की सबसे बड़ी समस्या थी, उसकी वजह से किसान सो नहीं पा रहे हैं, गर्मी से किसान को कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन जब पंखे चलते हैं तो मच्छरों से बचाव हो जाता है। फॉगिंग से धुआं तो भर जाता है लेकिन मच्छर नहीं भाग रहे हैं।"

उन्होंने कहा कि, "हमने बैठक में अधिकारियों से इन सभी पर निवेदन किया है और जल्द ही हमारी समस्याओं को दूर करने की बात कही गई है।"

जादौन ने आगे बताया कि, "प्रशासन की तरफ से वादा किया गया है कि आंदोलन स्थल के पास एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। जिसमें कर्मचारियों के साथ बिजली के कुछ सामान उपलब्ध रहेंगे। यदि कंट्रोल रूम खुलेगा तो प्रशासन का धन्यवाद रहेगा।"

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news