लखनऊ: DGP/IG सम्मेलन में बोले पीएम मोदी, 'हाईपावर पुलिस टेक्नोलॉजी मिशन स्थापित करें'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री के नेतृत्व में एक हाईपावर पुलिस टेक्नोलॉजी मिशन गठित करने का सुझाव दिया।
लखनऊ: DGP/IG सम्मेलन में बोले पीएम मोदी, 'हाईपावर पुलिस टेक्नोलॉजी मिशन स्थापित करें'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री के नेतृत्व में एक हाईपावर पुलिस टेक्नोलॉजी मिशन गठित करने का सुझाव दिया।

लखनऊ में 56वें डीजीपी/आईजी सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी ने जमीनी पुलिसिंग आवश्यकताओं के लिए भविष्य की तकनीकों को अपनाने के लिए हाई पावर पुलिस टेक्नोलॉजी मिशन के गठन का आह्वान किया और अंतर-संचालित प्रौद्योगिकियों के विकास का सुझाव दिया, जिससे देशभर में पुलिस बलों को लाभ होगा।

नई दिल्ली में प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने आम जनता के जीवन में प्रौद्योगिकी के महत्व का हवाला देते हुए उन्होंने लोगों के लाभ के लिए ड्रोन प्रौद्योगिकी के सकारात्मक उपयोग का भी सुझाव दिया।

2014 में शुरू की गई स्मार्ट पुलिसिंग अवधारणा की समीक्षा पर जोर देते हुए उन्होंने पुलिस बलों में इसके निरंतर परिवर्तन और उसी के संस्थागतकरण के लिए एक रोडमैप के विकास का सुझाव दिया। उन्होंने पुलिस के सामने आने वाली कुछ नियमित चुनौतियों से निपटने के लिए हैकाथॉन के माध्यम से तकनीकी समाधान तलाशने के लिए उच्च योग्य युवाओं को शामिल करने का भी आग्रह किया।

उन्होंने आम जनता, विशेष रूप से कोविड के बाद के प्रति पुलिस के रवैये में सकारात्मक बदलाव की सराहना की।

सम्मेलन के समापन सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने पुलिस से संबंधित सभी घटनाओं के विश्लेषण और केस स्टडी विकसित करने का आह्वान किया, ताकि इसे एक संस्थागत शिक्षण तंत्र बनाया जा सके।

दो दिवसीय सम्मेलन में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 62 डीजीएसपी/आईजीएसपी और लखनऊ में सीएपीएफ/सीपीओ के डीजी ने भाग लिया।

सम्मेलन में राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रमुख पहलुओं जैसे जेल सुधार, आतंकवाद, वामपंथी उग्रवाद, साइबर अपराध, नशीले पदार्थों की तस्करी, गैर सरकारी संगठनों के विदेशी वित्त पोषण, ड्रोन पर चर्चा करने के लिए डीजीएसपी के विभिन्न कोर समूहों का गठन किया गया।

प्रधानमंत्री ने आईबी कर्मियों को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति के पुलिस पदक से भी सम्मानित किया।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news